मप्र: रिश्वत लेते पकड़ाया सरकारी अधिकारी, लोकायुक्त को देखते ही बाथरूम में घुसा

जबलपुर। भारत में रिश्वत का खेल जारी है। भ्रष्टाचार के खिलाफ ढेरों कानून बनाए गए हैं। लेकिन इन कानूनों से कोई फायदा नहीं हुआ। भ्रष्टाचार आज भी मौजूद है। हर दिन करोड़ों रुपयों की घूस दी और ली जाती है। रिश्वत का एक मामला मध्यप्रदेश के जबलपुर से सामने आया है। यहां उद्यानिकी विभाग के संयुक्त संचालक को उनके अधारताल स्थित घर में एक लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए लोकायुक्त टीम ने रविवार को गिरफ्तार किया है। आरोपी लाखों रुपए के बिल पास कराने के एवज में रिश्वत मांग रहा था।

जानकारी के अनुसार, आरबी राजोदिया उद्यानिकी विभाग में संयुक्त संचालक हैं। उन्होंने नर्सरी संचालक से बिल पास कराने के एवज में एक लाख रूपए की रिश्वत मांगी थी। 23 सितंबर को नर्सरी संचालक ने इसकी शिकायत लोकायुक्त से की। उसने बताया कि वह सरकारी विभागों में पौधों की आपूर्ति करता है। उसने लगभग 25 लाख रुपए के पौधे सप्लाई किए थे, जिसका बिल पास कराने के लिए उसने उद्यानिकी जबलपुर संयुक्त संचालक आरबी राजोदिया से कहा था। लोकायुक्त टीम ने योजना के अनुसार नर्सरी संचालक को आरबी राजोदिया के घर एक लाख रूपए लेकर भेजा। रविवार सुबह 1 लाख रुपए लेकर घर बुलाया। जैसे ही राजौदिया ने पैसे लिए लोकायुक्त घर पहुंच गई और उसे पकड़ लिया। तभी हाथ छुड़ाकर वह बाथरूम की ओर दौड़ा। उसके पीछे आरक्षक भी दौड़े और बाथरूम बंद करने से पहले ही दरवाजा को धक्का देकर बाहर निकाल लिया।

बाहर आकर राजादिया लोकायुक्त के साथ विवाद करने लगा। इसके बाद लोकायुक्त की टीम उसे उसके आवास में बने दफ्तर पर ले गई और वहां कई महत्वपूर्व दस्तावेजों की जांच की और भुगतान संबंधी फायलें जब्त कर लीं।

Related posts