मप्र: रसायन के गोरखधंधे का भंडाफोड़, 10 ड्रम रसायन जब्त

नागदा। औद्योगिक नगर नागदा की इंडस्ट्रीज से जुड़े रसायन की हेराफेरी का भंडाफोड़ सोमवार को देर रात पुलिस ने किया है। उज्जैन रोड़ पर कस्बा उन्हेंल के समीप लगभग 10 ड्रम केमिकल अर्थात कास्टिक सोड़ा महाकाल ढाबा संचालक के यहां से जब्त किया गया। यह कार्रवाई नागदा शहर से लगभग 12 किमी दूर पर हुई। जानकारी के अनुसार नागदा के उद्योगों में बड़ी मात्रा में रसायन का उपयोग रा मटेरियल के रूप में होता है। कुछ उद्योगों में रसायन का उत्पादन भी होता है। यह रसायन टैंकरों के माध्यम से सड़क मार्ग से गंतव्य स्थान तक आवागमन होता है। उज्जैन एवं नागदा के बीच स्थित ढाबों पर टैंकर चालक आए दिन रसायन को बेच देते हैं। बाद में ढाबा संचालक मोटी रकम पर इस रसायन से खासी कमाई करते हैं।

सोमवार को देर रात करीब साढ़े 11 बजे इसी प्रकार से पकड़ाए महाकाल ढ़ाबा संचालक के यहां से रसायन ने इस गौरखधंघे की हकीकत को उजागर कर दिया है। उन्हेंल पुलिस ने महाकाल ढाबा संचालक के खिलाफ धारा 385 में तथा प्रदूषण नियंत्रण नियमों के उल्लघंन में प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस ने देर रात चुनाव के चलते अभियान चलाया था। इस अभियान में एएसपी अंतरसिंह कलेश एवं नागदा सीएसपी मनोज रत्नाकर एवं क्राइम ब्रांच टीम ने संयुक्त रूप से भाग लिया। इस मामले में फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है, लेकिन इस घटना से क्षेत्र में हलचल मच गई है। साथ ही उद्यागों से जुड़े़ ट्रासपोर्ट कारोबार पर भी सवाल खड़े होने लगे हैं। पूर्व में इस प्रकार के मामले सामने आए हैं। लेकिन इस धंधे का जाल बड़े स्तर पर हाेने से उद्योग प्रबंधक भी मौन हैं।

Related posts