मप्र: मंत्रियों के बंगले चमकाने में सरकार ने उड़ा दिए 3.68 करोड़, सत्र में खुली पोल

भोपाल: मध्य प्रदेश में छह महीने पुरानी कमलनाथ सरकार ने भोपाल में अपने मंत्रियों के आधिकारिक बंगलों की मरम्मत और उनको आलीशान बनाने पर 3.68 करोड़ रुपये खर्च किए हैं, जबकि मध्य भारतीय राज्य पर लगभग 1.80 लाख करोड़ रुपये का बकाया कर्ज है।

पूर्व सांसद मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ विधायक नरोत्तम मिश्रा के प्रश्न (वर्तमान विधानसभा सत्र के दौरान) के जवाब में, कांग्रेस सरकार के कैबिनेट मंत्रियों को आवंटित बंगलों की मरम्मत और फेसलिफ्ट में किए गए खर्च से संबंधित, पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने विस्तृत आंकड़े प्रस्तुत किए। जिसमें पता चला कि मंत्रियों के बंगलों पर 3.68 करोड़ रुपये की धनराशि खर्च की गई है।

महत्वपूर्ण बात यह है कि मप्र राजधानी के अपकमिंग चार इमली इलाके में वित्त मंत्री तरुण भनोट के सरकारी बंगले के पुनर्निर्माण, मरम्मत और फेसलिफ्ट पर 45 लाख रुपये से अधिक का खर्च किया गया हैं।

अगले मंत्रियों की सूची में जिनके बंगले का अधिकतम सरकारी खर्च किया गया उनमें पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा का नाम आता है, जिन्होंने गुरुवार को एमपी विधानसभा में भाजपा नेता के सवाल का जवाब प्रस्तुत किया।

चार इमली इलाके में स्थित वर्मा के आधिकारिक बंगले के पुनर्निर्माण, मरम्मत और नया रूप देने पर 42.68 लाख रुपये से अधिक की राशि खर्च की गई हैं।

इस सूची में तीसरे नंबर पर खुद सीएम थे, सिविल लाइंस इलाके में उनके दो बंगलों के पुनर्निर्माण पर 33.80 लाख से अधिक की राशि खर्च की गई हैं। दोनों, वित्त मंत्री तरुण भनोट और पीडब्ल्यूडी मंत्री बाला बच्चन को सीएम कमलनाथ का वफादार माना जाता है।

पशुपालन मंत्री लखन सिंह यादव के बंगलों की मरम्मत पर 35 लाख रुपये से अधिक की राशि खर्च की गई हैं।

Related posts

Leave a Comment