मप्र: फिर सामने आई डॉक्टरों की लापरवाही, नसबंदी के ऑपरेशन के दौरान महिला की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

सीहोर। सीहोर जिले के अस्पताल की स्वास्थ्य सेवाएं वेन्टीलेटर पर हैं, यहां पर भर्ती होने वाले मरीजो की जान के साथ खिलवाड़ बदस्तूर जारी है। ताजा उदाहरण इछावर के अस्पताल में नसबंदी का आॅपरेशन कराने आई महिला की मौत का है। जी हां सीहोर जिले के इछावर में डाक्टरों की लापरवाही से नसबंदी का ऑपरेशन कराने गई महिला की अत्याधिक ब्लीडिंग होने से मौत हो गई। मौत के बाद परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया।

अस्पताल में ऑपरेशन के दौरान महिला की मौत से ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया। परिजनों और ग्रामीणों ने भोपाल अस्पताल से शव लाकर इछावर में करीब चार घंटे तक चक्का जाम किया। हालत बेकाबू होते देख पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा

तहसील मुख्यालय के वार्ड 12 की निवासी रानी यादव (33) पिछले सप्ताह इछावर अस्पताल में डॉ मधु शर्मा ने नसबंदी कराई गई थी। ऑपरेशन के दौरान रानी की हालत बिगड़ने लगी। ब्लीडिंग बंद नहीं होने की स्थिति में उसे चौबीस घंटे के बाद भोपाल रेफर कर दिया गया। इस दौरान भोपाल में भी उसकी हालत में कोई खास सुधार नहीं हुआ। शनिवार रात रानी की मौत हो गई।

डॉक्टर पर कार्रवाई की मांग
डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए महिला के परिजनों ने तहसील कार्यालय के सामने सड़क पर शव रखकर करीब चार घंटे तक प्रदर्शन किया। मौके पर पहुंचे इछावर एसडीएम मेहताब सिंह ने प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास किया मगर वे लगातार डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते रहे। प्रदर्शन उग्र होता देख जिला स्वास्थ्य मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अहिरवार भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने मृतक के परिजनों को दो लाख रुपये मुआवजे के तौर पर देने की बात कही।

Related posts