मप्र: पुलिस के हत्थे चढ़ा घरेलू गैस टंकियां चुराने वाला गिरोह, 62 सिलेंडर जब्त

धार। धार क्राइम ब्रांच एवं सादलपुर पुलिस ने गैस टंकियां चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर दिया है। बता दें की गत माह एचपी गोडाउन से 79 गैस सिलेन्डर के चोरी हो जाने पर अज्ञात बदमाशों के विरुद्ध धारा 379 में प्रकरण दर्ज किया गया था और मामले को विवेचना में रखा था।

आज गुरुवार को पुलिस ने मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा कर दिया है। वहीं, गिरफ्तार आरोपितों के पास से 62 सिलेंडर (कीमत एक लाख 80 हजार) बरामद कर लिये हैं। इनमें एक आरोपित फरार बताया जा रहा है। क्राइम ब्रांच प्रभारी संतोष पाण्डेय को गुरुवार को मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम चंदन नगर घाटाबिल्लोद का रहने वाला मिथुन ने तीसगांव के गैस गोडाउन के सामने रखे ट्रक में से काफी मात्रा में घरेलू गैस टंकियों चुराई थी। गैस टंकी ऊपर घर पर रखी हुई हैं तथा लोगों को सस्ते दामों में भरी हुई गैस की टंकिया सप्लाई कर रहा है।

थाना सादलपुर में गैस टंकी चोरी होने के अपराध पंजीबद्ध होने तथा मुखबिर की सूचना से वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सूचना दी गई और क्राइम ब्रांच धार व थाना सादलपुर पुलिस टीम के द्वारा संयुक्त कार्रवाई कर मुखबिर की सूचना पर मिथुन के घर दबिश दी। घर के अंदर काफी मात्रा में घरेलू एचपी गैस कंपनी की टंकियां रखी हुईं थीं। मिथुन से गैस टंकी के संबंध में पूछताछ की गई। कागजात मांगने पर वह घबरा गया एवं कभी कुछ कभी कुछ बताने लगा। टीम द्वारा सख्ती से पूछताछ करने पर आरोपी ने अपराध कबूल कर लिया। उसने बताया कि उसने यह टंकी आपने तीन अन्य दोस्तों के साथ चुराई है। जिनमे कृपाल सिंह निवासी जड़वासा थाना कालूखेड़ा जिला रतलाम, विजय उर्फ भूरा निवासी कालीबिल्लोद सोसायटी के पीछे थाना बेटमा जिला इंदौर, कमल सिसोदिया निवासी मंडलाउदा थाना पीथमपुर के साथ डेढ़ माह पूर्व तीसगांव बिलोदा स्थित एचपी गैस कंपनी गोडाउन के सामने खड़े ट्रक से चुराई थी।

आरोपित मिथुन ने बताया कि उसने अपने दोस्त कृपालु के साथ गत 2 मार्च की रात्रि में पहले मोटरसाइकिल से उस स्थान की रैकी की थी, वहां पाया कि रात के समय गैस की टंकी की सुरक्षा के लिए कोई चौकीदार नहीं रहता है एवं गोदाम के सामने लावारिस हालत में गैस टंकियो से भरा एक ट्रक रहता है। तब कृपालु के साथ विजय और कमल को टंकी चुराने का प्लान बनाया। वे दोनों भी चोरी करने के लिए राजी हो गए। तीन मार्च की रात को हमने कमल की आयसर मिनी ट्रक से तिसगांव स्थित एचपी कंपनी गैस गोडाउन पहुंचे व गोडाउन के सामने से करीब 400/500 गैस टंकियों से भरा लावारिस हालत में खड़ा ट्रक था, जिसका हमने ताला तोड़कर अपने आयसर ट्रक के पीछे सटाकर 79 भरी हुई गैस की टंकी चुरा ली।

Related posts