मप्र: पुलिस की बड़ी कार्रवाई, नक़ली नोट छापने वाले गिरोह का किया खुलासा, 4 आरोपी गिरफ्तार

इंदौर। पुलिस ने नक़ली नोट छापने वाले एक ऐसे गिरोह का खुलासा किया है जो बड़े ही शातिराना अंजाम में अपन रैकेट को चला रहे थे, गिरोह के सरगना ने अपने कमरे में नकली नोट छापने की मशीन लगा रखी थी। गिरफ्तार किए गए चारों आरोपियों के पास से पुलिस ने करीब 58 हजार रुपए के नकली नोट बरामद किए हैं।

बताया जा रहा है कि गिरोह के सदस्य नक़ली नोटों की 30 फीसदी रकम लेकर इन्हें सप्लाई किया करते थे। फिलहाल पुलिस इनके नेटवर्क से जुड़े लोगों को तलाशने की कोशिश कर रही है। यह भी पता लगाया जा रहा है कि इस गिरोह के सदस्य अब तक कितने रुपए के नक़ली नोट छाप चुके हैं। पुलिस ने आरोपियों के पास के नक़ली नोट छापने की मशीन के साथ-साथ संबंधित सामग्री भी बरामद की है।

ASP रुपेश द्वीवेदी ने बताया कि उन्हें इस रैकेट के बारे में सूचना मिली थी कि गिरोह का एक सदस्य नकली नोटों के साथ इलाके में घूम रहा है, पुलिस ने जब उसे पकड़ कर तलाशी ली तो 5-5 सौ के कई नक़ली नोट बरामद हुए। आरोपी ने पूछताछ में अपने गिरोह के अन्य साथियों के नामों का भी खुलासा कर दिया, जिसके बाद पुलिस ने छापा मार कर सभी को गिरफ्तार कर लिया।

हिरासत में लिए गए सभी आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल करते हुए बताया कि अब तक वो लाखों रुपए के नक़ली नोट बाजार में खपा चुके हैं। पुलिस ने मौके पर से एक लैपटॉप, प्रिंटर और स्केनर, एक्सेल बांड पेपर, कटर , स्याही और रेडियम जब्त किए हैं। आरोपी अभिजीत और लोकेश नौवीं पास हैं इसके आलावा इन्होंने कप्यूटर हार्डवेयर का कोर्स भी किया हुआ है। पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वो नक़ली नोटों को आस-पास की छोटी-छोटी दुकानों पर चलाया करते थे।

Related posts