मप्र: कार्य में लापरवाही बरतने पर दो पंचायत सचिवों पर गिरी गाज, निलंबित

देवास। कार्य में लापरवाही बरते पर दो पंचायत सचिवों पर गाज गिरी है। जिसकी कीमत उन्हें अपनी नौकरी देकर चुकानी पड़ी। जी हां अजय किसान ऋण माफी योजना का क्रियान्वयन सही तरीके से नहीं करने पर तथा कार्य क्षेत्र पर अनुपस्थित रहने पर कलेक्टर डॉ. श्रीकान्त पाण्डेय के निर्देश पर दो ग्राम पंचायत सचिवों को निलंबित कर दिया है। बागली जनपद पंचायत के सीईओ के प्रतिवेदन पर ग्राम पंचायत टप्पासुकल्या के सचिव मोहनलाल सिठोला तथा ग्राम पंचायत धींगराखेड़ा सचिव कैलाश चौहान को निलंबित किया गया है। इस संबंध में शुक्रवार को आदेश जारी कर दिया गया है।

प्रभारी जिला पंचायत सीईओ राजेश दीक्षित ने बताया कि जनपद पंचायत बागली की ग्राम पंचायत टप्पा सुकल्या के सचिव मोहनलाल सिठोला तथा ग्राम पंचायत धींगराखेड़ा के सचिव कैलाश चौहान को ऋण माफी योजना का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया था। योजना के तहत उन्हें किसानों के कर्ज माफी फॉर्म भरे जाने का दायित्व सौंपा गया था, लेकिन उन्होंने कार्य को पूर्ण नहीं किया। साथ ही मुख्यालय से बिना सूचना के अनुपस्थित रहे। उक्त कार्य में लापरवाही करने पर दोनों पंचायत सचिवों को निलंबित किया गया है। निलंबन की अवधि में उन्हें जीवन निर्वहन भत्ता प्राप्त करने की पात्रता रहेगी।

Related posts