मप्र: कपड़ा व्यवसायी की पत्नी के कत्ल का पर्दाफाश, 5 आरोपी गिरफ्तार, लूट के लिए की थी हत्या

शिवपुरी। पुलिस ने कपड़ा व्यवसायी विजय गुप्ता की पत्नि किरण गुप्ता की हत्या का पर्दाफाश करने में कामयाबी हासिल की है। पुलिस बीती 11-12 सितम्बर की दरमियानी रात हुई इस घटना के करीब तीन माह बाद आरोपियों तक पहुंची है। इस घटनाक्रम को 5 आरोपियों ने अंजाम दिया जिसमें अधिकांशत: नाबालिग आरोपी थी जिन्होंने अपने शौक को पूरा करने के लिए इस घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जबकि एक आरोपी को हैदराबाद के निजाम से पकड़ा गया है जिसे लेने पुलिस हैदराबाद गई हुई है। पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकड़ ने इस हत्याकाण्ड को टे्रस करने में लगी पुलिस टीम की सराहना की और इस टीम को चुनाव ड्यूटी से भी बाहर रखा गया ताकि यह टीम अपने कार्य में लगी रहे और गुप्ता हत्याकाण्ड का पर्दाफाश होने के बाद एसपी हिंगणकर का मानना है कि उन्होंने जनता का विश्वास हासिल किया और किसी तरह से अपराध को पनपने नहीं दिया जाएगा।

इस तरह हुई घटना
बीती 11-12 सितम्बर को पुलिस थाना देहात में फरियादी विजय गुप्ता ने सूचना दी कि में राघवेन्द्र नगर में रहता हूॅ मेरी एक कपड़े की दुकान टेकरी वाली गली बाजार में है में तथा मेरा लड़का रोज की तरह टेकरी वाली गली दुकान पर चले गये। करीब दोपहर 03:00 बजे उनका बेटा शिवम गुप्ता घर पर वापस आया व खाना खाकर वापस दुकान पर आ गया, जब प्रार्थी तथा बेटा शिवम रात्रि करीब 09:00 बजे वापस घर पर आये तो देखा कि मेरी पत्नी किरण मृत अवस्था में खून से लथपथ पड़ी थी व शरीर पर पहनने वाले जेवर उसके शरीर पर नहीं थे तथा घर का सामान बिखरा पड़ा था बाद घटना की सूचना थाने आकर दी जिस पर पुलिस ने धारा 302,394 भादवि के तहत मामला विवेचना में लिया।

अंधे कत्ल का ऐसे हुआ पर्दाफाश
पुलिस को सूचना मिली कि उक्त घटना के आरोपी मरघट के पास पुरानी शिवपुरी में बेठे हैं मुखबिर सूचना पर पुलिस ने उस स्थान पर दबिश देकर किरण गुप्ता हत्याकाण्ड के आरोपियों आकाश रघुवंशी, अनमोल जैन, रमेश (परिवर्तित नाम)को दबोचकर सख्ती से पूछताछ की गई तो आरोपियों ने अपना जुर्म कबूला और पूरे हत्याकाण्ड की जानकारी पूछताछ में पुलिस को दी। इस पर बताया गया कि आरोपियों ने इस घटना को अपने साथी अमित गोस्वामी, संजय (परिवर्तित नाम), अजय जैन के साथ मिलकर योजनाबद्ध तरीके से लूट व किरण की हत्या करने की घटना को अंजाम दिया।

एक की तलाश जारी, हथियार व लूट का माल बरामद
पुलिस ने किरण गुप्ता हत्याकाण्ड के आरोपियों में जहां पांच आरोपियों को पकड़ लिया है तो वहीं एक आरोपी अमित गोस्वामी की तलाश अभी जारी है जिसकी तलाश हेतु पुलिस टीम रवाना की गई है। आरोपियों केे पास से हत्या में प्रयुक्त आलाजर एवं मृतिका के सोने के जेवरात 2 सोने की चूड़ी, 2 साने की चैन, 2 सोने के झुमके, 2 सोने के टॉक्स कीमत लगभग 2 लाख रूपये का बरामद किया गया है।

अभी भी अनसुलझे पड़े है पूर्व के मामले
जिस तरह से कपड़ा व्यवसाई की पत्नी किरण गुप्ता की लूट और हत्या की गई थी। ठीक उसी प्रकार राजेश्वरी रोड़ पर पूर्व में एक महिला की लूट और हत्या की घटना को अज्ञात बदमाशों द्वारा अंजाम दिया गया था। वहीं बाबू क्वाटर रोड़ पर भी इसी तरह की जघन्य बारदात घटित हुई थी। इन दोंनों मामलों को लम्बा समय गुजरने के बाद भी आज तक ट्रेस नहीं किया जा सका है। किरण गुप्ता हत्याकाण्ड को पुलिस कप्तान राजेश हिंगणकर ने बदमाशों की चुनौती मानते हुए स्वीकार किया जिसका परिणाम यह सामने आया कि यह मामला पूर्व के मामलों की तरह अनसुलझा न रहकर ट्रेस कर लिया गया है। पुलिस अधीक्षक का कहना है कि पूर्व के जो मामले अनसुलझे पड़े है उन्हें भी सुलझाने का पूरा प्रयास किया जायेगा।

Related posts