मध्यप्रदेश में कोहरे और ठंड का डबल अटैक

भोपाल। हिमालय की तराई क्षेत्रों में बर्फबारी के कारण राजधानी समेत पूरे मध्यप्रदेश में सर्दी का सितम जारी है। ठंड के साथ ही कोहरे ने भी लोगों के जीवन को मुश्किल कर दिया। बीते शुक्रवार का दिन इस मौसम का सबसे ठंडा दिन रहा। सुबह के समय धुंध, दिन में शीतलहर का कहर और रात में कड़ाके की ठंड ने लोगों की हालत खस्ता कर दी है। अभी तक पारा रात में गिरता था तो दिन में धूप से राहत मिल जाती थी, लेकिन शुक्रवार और आज शनिवार को दिन में भी सर्दी खूब सता रही है।

बैतूल और पचमढ़ी के साथ ही खजुराहो में सबसे कम पारा रहा। यहां पर यहां पर तापमान 1.0 डिग्री दर्ज किया गया। रीवा, उमरिया, शाजापुर, उज्जैन और राजगढ़ समेत प्रदेश के 20 जिलों में न्यनतम तापमान 5 डिग्री से कम रिकॉर्ड किया गया। भोपाल का आज रविवार को तापमान 21 डिग्री सेल्सियस, इंदौर का 22, ग्वालियर का 20 डिग्री और जबलपुर का न्यूनतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि नए साल के शुरुआती दिनों में शाम से सुबह तक शीतलहर और कड़ाके की ठंड पड़ेगी। इसकी खास वजह यह है कि ठंड के लिए जरूरी माने जाने वाले वेस्टर्न डिस्टरबेंस का असर यहां पर भी पड़ सकता है। इसका असर दो दिन पहले से दिखने लगा है। बीती रात को भोपाल में 10 साल का सबसे कम पारा 4.9 डिग्री दर्ज किया गया।

Related posts