भोपाल से इंदौर ट्रेंनिग पर जा रहे जीवन मोटर्स के 5 नुमाइंदों की हुई रहसमाई मौत!!

ब्रेकिंग
»जनसम्पर्क–Life«

Anam Ibrahim
7771851163

मध्यप्रदेश: देर रात भोपाल से इंदौर के लिए रवाना हुए मारुति जीवन मोटर्स के 5 कर्मचारी तनुष्का, क़य्यूम, फरहान, अजय व नसीम आज सुबह इंदौर में 9 बजे ट्रेनिग कैम्प में शिरकत करने कम्पनी की गाड़ी से जा रहे थे। तक़रीबन सुबह 4 बजे
ग्राम जटाखेडा थाना मंडी इलाक़े के पास पुलिया की दीवार से कार टकरा गई जिसके बाद कार पुलिया की दीवार को गिरा नाले में जा गिरी। लिहाज़ा वीराने इलाक़े के नाले में कार गिरने की सूचना मुक़ामी नुमाइंदों को देर से मिली मौक़े पर पहुची गोताखोरों व पुलिस की टीम ने नाले से दो लाश तो बरामद करली है तीन की तलाश अब भी ज़ारी है।

विचित्र परिस्तिथि….

कार में कम्पनी के 4 लड़के और एक लड़की जब ट्रेनिगं के लिए इंदौर जा रहे थे और ट्रेंनिग सुबह 9 बजे शुरू होने वाली थी तो फिर आधी रात में इंदौर के लिए रवाना होने की क्या ज़रूरत थी?? सुबह 6 बजे भी इंदौर के लिए रवाना हुआ जा सकता था या शाम को भी इंदौर के लिए निकला जा सकता था लेकिन आधी रात में एक लड़की को साथ लेकर निकलने का क्या मक़सद था?? जिस वक़्त हादसा हुआ उसे देखकर अंदाज़ा लगाया जाए तो कार भोपाल से लगभग एक से दो बजे के बीच भोपाल से निकली है। क्या अनुष्का के परिवार ने 4 जवान लड़को के साथ आधी रात को जाने की इजाज़त दी थी? क्या जीवन मोटर्स के स्वामी पवन बाबा या GM ने आधी रात को इंदौर रवाना होने की ताक़ीद की थी?? अगर नही तो फिर आधी रात में जाने की क्या वजह थी? जिस वक़्त हादसा हुआ उस वक़्त कार में क्या हो रहा था? जब सभी कार कंपनी के जानकार फ़नकार थे तो फिर लापरवाही क्यो बरती?? पढ़िए जल्द जनसम्पर्क-life में हादसा एक और सवाल अनेक की सत्यकथा

हालांकि इस पूरे मामले में गाड़ी चलाने वाले के परिचितों का मानना हैं कि गाड़ी एक हाजी द्वारा चलाई जा रही थी व उनकी सुबह की नमाज़ के पहले इंदौर जाने के लिए कॉल आया था। परिजनों के मुताबिक गाड़ी रात को नही बल्कि सुबह इंदौर की ओर रवाना हुई थी। हालांकि मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक गाड़ी रात को इंदौर की ओर रवाना हुई थी।

Related posts