भोपाल: वकील के 14 वर्षीय बालक को नाबालिक लड़को ने मिलकर उतारा मौत के घाट

भोपाल: भोपाल के एक नामी स्कूल के 14 वर्षीय छात्र की कथित तौर पर नेहरू नगर में गुरुवार रात कुछ बच्चों के द्वारा चाकू मारकर हत्या कर दी गई, जो पिछले तीन दिनों से उसे परेशान कर रहा था और उसकी पिटाई कर रहा था।
अपनी मरणासन्न पीड़ा में, आर्यन उर्फ आयुष तिवारी ने एक दोस्त को फोन किया और उससे मदद मांगी। जब तक आयुष के दोस्त उसको बचाने पहुँचते तब तक आरोपियों ने उसको बहुत बुरी तरह पीट चुके थे जिससे आयुष के सीने से खून भी बहना शुरू हो गया था। आयुष के दोस्त उसको अस्पताल ले गए, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।
अब तक पकड़े गए एक संदिग्ध भी नाबालिक हैं, आरोपी ने यह तो कबूल कर लिया है कि उसी में आयुष को पीटा था लेकिन यह अभी तक अबुल नहीं किया है कि उसने आयुष के सीने पर चाकू या किसी धारदार हथियार से वार किया था।

आर्यन अधिवक्ता हेमेंद्र तिवारी का बेटा था

आर्यन के चचेरे भाई यश ने बताया कि वह पिछले तीन दिनों से चिंतित लग रहा था और मोबाइल फोन पर बात करने के लिए घर के बाहर जाता था। परिवार ने सोचा कि वह जो कोई भी उसे परेशान कर रहा था आयुष बात सम्भाल लेगा इसलिए परिवार ने मामले में दखलंदाज़ी नही की। यश ने कहा, “अगर उसने इस बात को हमारे साथ साझा किया होता, तो हम इस मुद्दे को हल करने में उसकी मदद करते।” आर्यन के पड़ोसी अजय श्रीवास्तव ने बताया कि लड़कों के एक समूह ने तीन दिन पहले हनुमान मंदिर के पास स्कूली बच्चे पर हमला किया था। आर्यन ने अजय को मदद के लिए बुलाया और उसने मामला सुलझाया। लेकिन आरोपी लड़कों ने आर्यन को फिर से बुलाया और उसके साथ मारपीट की।
गुरुवार शाम को, आरोपी लड़को ने फिर से आर्यन को नेहरू नगर के पुलिस मैदान में बुलाया – अपने घर से मुश्किल से 300 मीटर दूर – लगभग 7 बजे, और आयुष के वहां पहुंचते ही आरोपी लड़कों ने आयुष के साथ मारपीट शुरू कर दी। आर्यन के दोस्तों में से एक ने बताया कि 7.37 बजे, उन्हें आर्यन का फोन आया। वह हांफ रहा था और उसने बताया कि कुछ लड़के उसकी पिटाई कर रहे हैं। वे उसे शारदा अस्पताल ले गए जहां पहुंचने पर उसे मृत घोषित कर दिया गया। एएसपी-जोन 1 संजय साहू ने कहा कि पुलिस ने अस्पताल द्वारा सूचित किए जाने के बाद हत्या का मामला दर्ज किया हैं। पुलिस अन्य संदिग्धों की तलाश कर रही है। एसएचओ कमला नगर मदन मोहन मालवीय ने कहा कि आर्यन अधिवक्ता हेमेंद्र तिवारी का बेटा था। वे संयुक्त परिवार में रहते हैं। उनके एक चचेरे भाई, अंकित मुंबई में डॉक्टर हैं और यश एक प्रमुख ऑनलाइन खाद्य वितरण कंपनी के साथ खाता प्रबंधक हैं। आर्यन के नाना राम सजीवन दुबे एक आध्यात्मिक गुरु हैं और हाल ही में उन्हें पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान द्वारा सम्मानित किया गया था।

Related posts