भीड़ ने पुलिस कॉन्सटेबल को पीट पीटकर मार डाला

जयपुर। देश में मॉब लिंचिंग की वारदातें जारी हैं। भीड़ ने कई बेकसूर लोगों को मौत के घाट उतारा है। मॉब लिंचिंग पर अब तक देश में पुलिस प्रशासन ने कोई महत्वर्पूण कदम नहीं उठाया है जिसका नतीजा यह है कि भीड़ खुद कानून को हाथ में ले रही है। ऐसी ही एक मॉब लिंचिंग की वारदात राजस्थान के राजसमंद जिले में घटी। जहां एक पुलिस कॉन्सटेबल की कुछ अज्ञात लोगों ने पीट-पीट कर हत्या कर दी। मृतक पुलिसकर्मी एक भूमि विवाद को सुलझाने के लिए उग्र भीड़ के बीच गया था।

पुलिस अधीक्षक भुवन भूषण ने बताया कि राजसमंद के भीम थाने में तैनात 45 वर्षीय कॉन्स्टेबल अब्दुल गनी एक भूमि विवाद मामले की जांच के लिए हमेला की बेर गांव गये थे। मृतक कॉन्सटेबल भीलवाड़ा के जहजपुर इलाके के रहने वाले थे। उन्होंने बताया कि जब वह बाइक से वापस लौट रहे थे तो चार-पांच अज्ञात लोगों ने लाठियों से उन पर हमला कर दिया। इस दौरान गांव वाले मूकदर्शक बने रहे किसी ने उन्हें बचाने की कोशिश नहीं की। गंभीर रूप से घायल गनी को कुछ राहगीरों ने देखा तो 108 एंबुलेंस की मदद से अस्पताल पहुंचाया। जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। पुलिस ने मृग कायम कर शव को पीएम के लिए भेज दिया है।

पुलिस घटना में शामिल लोगों की धड़पकड़ में लगी है। पुलिस अधीक्षक का कहना है की जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वहीं पुलिस इस मामले को मॉब लिंचिंग का मामला मानने से इंकार कर रही है।

Related posts