भारत में Apple का निर्माण हो सकता है बंद, यह है वजह

नई दिल्लीः आईफोन बनाने वाली कंपनी एेपल का भारत में आईफोन निर्माण करने का दूसरा चरण बीच में लटका हुआ है क्योंकि कंपनी को सरकार से टैक्स छूट का इंतजार है। कंपनी के एक अधिकारी के अनुसार यदि भारत में एेपल के मैन्युफैक्चरिंग पार्टनर विस्टर्न कॉर्प द्वारा भारतीय सरकार को आर्थिक रूप से समक्ष नहीं माना गया तो कंपनी देश में आईफोन बनाने के पहले चरण को बंद कर सकती है।

मुनाफे पर पड़ सकता है असर
भारत में विनिर्माण की एेपल की योजना के पहले चरण में बेंगलुरु में आईफोन एसई का एकीकरण हुआ था। एेपल ने मई 2016 से भारत में आईफोन के निर्माण के लिए भारत सरकार से बातचीत शुरू कर दी थी। कंपनी का कहना है कि इसमें कोई समझदारी नहीं है कि कंपनी विदेशों से आईफोन के पार्टस भारी इंपोर्ट ड्यूटी के साथ मंगावाए और फिर यहां बेचे। कंपनी का कहना है कि फोन पर भारी टैक्सों से उसका मुनाफा प्रभावित हो सकता है।
PunjabKesari
क्या है कंपनी की मांग
गौरतलब है कि चीन में एेपल की कम होती मांग के कारण कंपनी ने भारत का रुख किया। कंपनी ने बताया कि भारत में आईफोन की जबरदस्त सेल हुई है। इससे पहले एेपल ने सरकार से कहा अगर वे भारत को आईफोन और इसके पुर्जों का विनिर्माण हब बनाना चाहते हैं तो उसके सप्लायर्स को टैक्स छूट दी जाए। सरकार ने कंपनी की इस मांग पर बैंगलुरु में इसकी जानकारी मांगी थी। इस जानकारी में कंपनी द्वारा किए गए निवेश और लोगों के रोजगार देने की जानकारी शामिल थी। इस मामले की जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने बताया कि एेपल इसकी जवाब नहीं दे सकता क्योंकि वे भारत में सीधे तौर पर कोई निवेश नहीं कर रहा।

Related posts