भाजपा और आरएसएस के दिल में नफरत भरी पड़ा: राहुल गांधी

शाजापुर। चुनावी सीजन हो तो तीखी तेज बहस और आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर चलना आम बात है। ऐसे में भाजपा और कांग्रेस के बीच जुबानी जंग भी तेज हो गई है। चुनाव प्रचार के दौरान दोनों पार्टी के नेता एक दूसरे पर सियासी वार करने से नहीं चूक रहे। इसी कड़ी में मध्यप्रदेश के शाजापुर पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ हमलावर हो गए। राहुल गांधी ने शाजापुर में फिर अपने भाषण की शुरूआत ‘चौकीदार ही चोर है’ के नारे से की। बीजेपी पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा कि, बीजेपी, आरएसएस और मोदी के दिल में नफरत भरी पड़ी है। पीएम मेरे दादी, पिता के खिलाफ अपशब्द बोलते हैं, लेकिन मैं उन्हें फिर भी झप्पी देता हूं, प्यार से गले लगाता हूं।

‘कांग्रेस ने देश को बदलने का काम किया’

उन्होंने कहा कि, हमारी सरकार में लागू योजनाओं ने देश को बदलने का काम किया। लोकसभा चुनाव जीतने का बाद कांग्रेस ऐतिहासिक काम करने जा रही है। पार्टी ने निर्यण लिया है कि सरकार में आने के बाद भारत में गरीबों को गारंटी इनकम दिया जाएगा। आपका एक सिपाही दिल्ली में बैठा है। आप जब कहोगे जहां बुलाओगे मैं वहां पहुंच जाउंगा।

‘कांग्रेस की सरकार आई तो एक साल में देंगे 22 लाख नौकरियां’

कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि, इस नोटबंदी के दौरान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कोऑपरेटिव बैंक में अपने कालेधन को सफेद कर दिया। पूरे देश में चोरों ने नरेंद्र मोदी की मदद से अपना कालाधन सफेद किया। नोटबंदी से 45 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी हो गई। 22 लाख सरकारी नौकरियां आज खाली पड़ी हैं। केन्द्र में कांग्रेस की सरकार आने के एक साल के अंदर इन 22 लाख नौकरियों को आपके हवाले कर देंगे।

चिदंबरमजी ने कागज पर पैन से नंबर लिखे। मैंने कहा ये क्या है, वे बोले 72 हजार रुपए हैं जो 25 करोड़ लोगों को 1 साल में दे सकते हैं। गरीबी मिटने तक ऐसा हो सकता है। मैं चौंक गया, मैने पूछा ये कि पैसा कहां था, तो चिदंबरम ने बताया कि यह पैसा डिफाल्टर उद्योगपतियों को दिया जा रहा है।

नोटबंदी से तबाह व्यवसाय को उबारने की तैयारी कर ली है : राहुल

राहुल गांधी ने नोटबंदी और जीएसटी पर कहा, “नोटबंदी और जीएसटी से छोटे व्यवसाय चौपट हो गए। मैंने इसे उबारने की पूरी तैयारी कर ली। न्याय योजना से इसे पटरी पर लाएंगे। इस योजना का फायदा केवल पांच करोड़ परिवारों को ही नहीं पूरे देश को होगा। न्याय योजना शुरू होते ही नोटबंदी और जीएसटी से देश की खराब हुई अर्थव्यवस्था पटरी पर आ जाएगी।

Related posts