भगवान के घर चोरी: लाखों का माल किया पार

छतरपुर। मप्र में चोरी की वारदातें बढ़ती जा रही हैं। चोर इतने बेखौफ हो गए हैं कि आम लोगों के साथ—साथ भगवान के घर को भी नहीं बख्श रहे। ऐसा ही एक मामला छतरपुर में सामने आया जहां चोरों ने भगवान के घर को भी नहीं बख्शा और मंदिर से लाखों के माल पर हाथ साफ कर दिया। शहर में रविवार-सोमवार की दरम्यानी रात कोतवाली पुलिस की नाक के नीचे स्थित बाबा विश्वनाथ शिव शक्ति मंदिर का ताला तोडकर रहस्यमय परिस्थितियों में लाखों की चोरी हो गयी। अज्ञात चोरों ने मंदिर के मुख्य गेट चैनल का ताला खोला और अंदर दाल पेटी अलमारी सहित भगवान के चांदी के मुकट आभूषण और करीब 45 हजार रुपये नगर चोरी करके ले गये। आरोपित मंदिर के गेट का दोबारा ताला लगाकर चले गये। कोतवाली से महज 200 मीटर की दूरी में मंदिर होने की बावजूद भी पुलिस सूचना देने के 2 घंटे के बाद पहुुंची जिस पर आक्रोशित लोगों ने जाम लगा दिया। खबर मिलते ही एडीशनल एसपी जयराज कुबेर और नगर पुलिस अधीक्षक उमेश शुक्ला मौके पर पहुंचे।

इस मामले में एडीशनल एसपी ने कोतवाली पुलिस की लापरवाही पाते हुये दो एएसआई और दो आरक्षको को निलंबित कर दिया। घटना के संबंध में जानकारी मिली है कि उपभोक्ता भंडार के पास स्थित बाबा विश्वनाथ शिव शक्ति मंदिर के पुजारी श्रीराम पौराणिक सोमवार की सुबह 6 बजे हर दिन की तरह पूजा करने के लिये मंदिर पहुंचे तो उन्होने मंदिर का गेट का ताला खोला और अंदर का दृश्य देखकर वह हैरान हो गये क्योंकि मंदिर के अंदर दानपेटी पड़ी थी और उसके ताले टूटे थे और भगवान के जेवरात गायब थे। मंदिर के पुजारी ने तत्काल मंदिर समिति के लोगों को जानकारी दी और कोतवाली पहुुंचकर सूचना दी लेकिन दो घंटे तक पुलिस ने पुजारी केा कोतवाली में बैठाये रखा। रिपोर्ट दर्ज नहीं होने और पुलिस के मौके पर नहीं पहुंचने पर बाजार के व्यापारियों मेें आक्रोश फैल गया और देखते ही देखते मंदिर के सामने भारी भीड जमा हो गयी और हंगामा होने लगा। लोगों ने सड़क पर जाम लगा दिया। इसी बीच सीएसपी उमेश शुक्ला पहले पहुंच गये लेकिन कोतवाली पुलिस बाद में पहुंची। पुलिस के पहुंचते ही लोगों का गुस्सा पुलिस पर फूट पडा। लोगों का कहना है कि जब चोरों से भगवान के घर मेहफूज नहीं तो आम जनता का क्या होगा।

Related posts