बिहार: अपराध का अड्डा बनी राजधानी पटना, पॉल स्वीट्स के मालिक की गोली मारकर हत्या

पटना। बिहार की कानून व्यवस्था पूरी तरह पटरी से उतर गई है। बिहार की राजधानी पटना बिहार में अपराध और अपराधियों का सबसे बड़ा अड्डा है। सरकार की नाक के ठीक नीचे सबसे ज्यादा अपराध यह बताने के लिए काफी हैं कि बिहार में अच्छे लोग, व्यवसायी और पेशेवर युवा जाने से क्यों बचते हैं। कायदे से राजधानी में सबसे कम अपराध होने चाहिए, लेकिन यह राज्य के लिए शर्मनाक है कि यहां सबसे ज्यादा अपराध होते हैं। इन घटनाओं के चलते राज्य की कानून व्यवस्था पर तरह-तरह के सवाल खड़े किए जा रहे हैं। बिहार के समाज की परिपक्व समझ और प्रशासन के अपने लंबे अनुभव के बावजूद मंझे हुए राजनेता नीतीश कुमार का अपराध की समस्या पर काबू न पाना लोगों को उलझन में डाल रहा है। आखिर कानून-व्यवस्था की स्थिति सुधारने के लिए वे किस चीज का इंतजार कर रहे हैं? यह तो समझ से परे है। अपराधिक वारदात से जुड़ा एक मामला फिर राजधानी पटना में सामने आया। शनिवार शाम कुछ अज्ञात हमलावरों ने एक मिठाई व्यवसायी की गोली मारकर हत्या कर दी।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गरिमा मल्लिक ने बताया कि मृतक की पहचान पुरुषोत्तम कुमार के रूप में की गई है जो कि पटना शहर के न्यू डाकबंगला रोड पर स्थित पाल केक की दुकान के मालिक हैं। इस संबंध में अब तक किसी व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। मल्लिक ने बताया कि यह वारदात शनिवार शाम करीब साढ़े सात बजे फ्रेजर रोड पर सूर्या अपार्टमेंट के पास हुई जब पुरुषोत्तम अपनी मोटरसाइकिल पर सवार होकर न्यू डाकबंगला रोड पर स्थित अपनी दुकान जा रहे थे। उन्होंने बताया प्रथम दृष्टि से यह संपत्ति विवाद से जुडा मामला नहीं लगता। पुलिस सभी दृष्टिकोण से मामले की जांच कर रही है।

मल्लिक ने बताया कि मृतक अपने साथ नकदी नहीं ले जा रहा था, जबकि वह अपने निवास से अपनी दुकान पर जा रहा था। मृतक की पत्नी के अनुसार पुरुषोत्तम की किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। पुलिस ने वारदात स्थल से एक कारतूस, एक खाली कारतूस और मृतक की बाइक बरामद की है। मल्लिक ने कहा कि पुलिस तकनीकी सबूतों पर काम कर रही है। जल्द ही बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Related posts