प्रदेश में फैला ज़ीका वायरस का आतंक, 50 से 85 तक बढ़ा आकड़ा

 भोपाल. मध्यप्रदेश 

राजस्थान के बाद अब मध्यप्रदेश में जीका वायरस का आतंक फैल रहा है। राज्य में लगातार इसके नए मामले सामने आ रहे हैं। राजधानी भोपाल में 24 नए मामले सामने आए हैं। कुल मिलाकर पूरे राज्य में अब तक 50 मामले सामने आ चुके हैं। केवल एक दिन में 50 जीका संक्रमित मामले सामने आने की वजह से प्रशासन में हड़कंप मच गया है। विभाग ने पूरे राज्य में अलर्ट जारी कर दिया है।
भोपाल के अलावा विदिशा, सीहोर और सागर जीका से प्रभावित जिले हैं। इसके अलावा सभी जिलों में जीका वायरस से लेकर बुखार तक के मरीजों और लार्वा का सर्वे किया जा रहा है। गर्भवती महिलाओं का अलग से सर्वे हो रहा है। भोपाल में हो रहे सर्वे में रोजाना लगभग 80 गर्भवती महिलाएं मिल रही हैं। शुक्रवार को भी इतनी ही संख्या में महिलाएं मिलीं। स्वास्थ्य विभाग ने जिला मलेरिया अधिकारी भोपाल को सेकंड राउंड की एंटी लार्वा एक्टिविटी शुरू करने के निर्देश दिए हैं. गौरतलब है भोपाल में 11 दिन में जीका बुखार के 31 पॉजिटिव मरीज मिले हैं.भोपाल के अलावा विदिशा, सीहोर और सागर भी जीका से प्रभावित हो चुका है और प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा लगभग 85 हो गया है.

एनएचएम की रिपोर्ट के मुताबिक एक दिन में 24 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद भोपाल में जीका प्रभावित कॉलोनियों की संख्या 15 हो गई है. एक सप्ताह पहले तक जीका प्रभावित कॉलोनियों की संख्या 5 थी. इसकी वजह जीका फैलाने वाले एडीज मच्छर के लार्वा बड़ी संख्या में कॉलोनियों में मौजूद होना बताया गया है. इसके अलावा जीका का संक्रमण बढ़ने की दूसरी वजह, जीका पॉजिटिव मरीजों का संपर्क सामान्य वायरल फीवर के मरीजों से होना है. इस कारण शहर में जीका प्रभावित मरीजों की संख्या कॉलोनियों में तेजी से बढ़ी है.

Related posts