पेशी के बाद तेल कारोबारी संदीप अग्रवाल के हत्यारे को ले जाते थे पुलिसकर्मी मसूरी की सैर पर, एसपी ने किया सस्पेंड

इंदौर। ग्वालियर एसपी ने सात पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। ये सभी इंदौर के तेल कारोबारी संदीप अग्रवाल हत्याकांड के आरोपी रोहित सेठी को सैर करा रहे थे। यह मामला 16 जून का है। हवलदार त्र्यंबकराव, सिपाही एडविन, संजय और अमित की ड्यूटी रोहित सेठी को एक पेशी पर देहरादून जाने के लिए लगी थी। पुलिस रजिस्टर में इनकी रवानगी दर्ज हो गई। वॉरंट भी बन गया। उसके मुताबिक सभी को ट्रेन से जाना था, लेकिन ये लोग ट्रेन से ना जाकर रोहित के खर्चे पर कार से रवाना हुए। इसी कार से ये सब लोग उत्तराखंड की राजधानी देहरादून गए। इनमें से सिपाही अमित पेशी पर गया नहीं। पेशी के बाद पुलिसवाले आरोपी रोहित सेठी को लेकर ग्वालियर नहीं लौटे बल्कि वो मसूरी के होटल चिमनी हाउस के रूम नंबर ए 2, बी 2 में रुके। रोहित की गर्लफ्रेंड आस्मा को भी इसी होटल में रुकवाया गया। 18 जून को वापस आते समय इन लोगों का होटल के स्टाफ से झगड़ा हो गया। होटल स्टाफ को फर्जी पुलिस होने का शक हुआ तो उसने लोकल पुलिस से इसकी शिकायत की।
रास्ते में रोहित सेठी और पुलिस की गाड़ी को उत्तराखंड पुलिस ने चेकपोस्ट पर रुकवायी तो उसमें सवार पुलिसकर्मियों ने आरआई देवेंद्र यादव से एसआई की बात कराई। उसके बाद यह गाड़ी छोड़ दी गई। इस हरकत को आरआई ने वरिष्ठ अधिकारियों से छिपाया। 8 जुलाई को फिर से हवलदार त्र्यंबकराव, सिपाही संजय, जितेन्द्र आरोपी रोहित को पेशी पर ले गए। इस बार भी निजी गाड़ी इस्तेमाल की गयी। जब बात एसपी तक पहुंची तो उन्होंने जांच के आदेश दिए। बात की पुष्टि होने पर उन्होंने इस केस में शामिल पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया।

Related posts