पूर्व केंद्रीय मंत्री कैप्टन निषाद का हुआ निधन, राजनीतिक गलियारों में शोक की लहर

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री कैप्टन जय नारायण प्रसाद निषाद का निधन हो गया। 88 वर्षीय निषाद ने दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में सोमवार को अंतिम सांस ली। बताया जा रहा है कि वो लंबे समय से बीमार चल रहे थे और उनका इलाज चल रहा था।

उनके सांसद बेटे अजय निषाद ने बताया कि मंगलवार को उनका दाह संस्कार हाजीपुर में गंगा किनारे किया जाएगा।

सूत्रों के अनुसार बीते 11 दिसंबर को सुबह में सैर करने के दौरान कैप्‍टन निषाद गिर गए थे। जिससे उनके सिर में गंभीर रूप से चोट आ गई थी। कुछ दिनों तक पटना के एक प्राइवेट अस्पताल में इलाज के बाद बेहतर इलाज के लिए उन्हें दिल्ली रेफर कर दिया गया था।

उनके निधन से राजनीतिक गलियारों में शोक की लहर है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के अध्यक्ष जीतनराम मांझी सहित कई नेताओं ने इस पर शोक जताया है। मांझी ने कहा है कि उनके निधन से वंचित समाज को अपूरणीय क्षति हुई है।

कैप्टन जय नारायण निषाद बिहार के मुजफ्फरपुर से कई बार सांसद रहे थे. जय नारायण प्रसाद निषाद बीजेपी के नेता थे, जब अप्रैल 2008 में उन्हें उपराष्ट्रपति द्वारा विरोधी दलबदल कानून के तहत राज्यसभा के सदस्य के रूप में अयोग्य घोषित कर दिया गया था।

निषाद अपने लंबे राजनीतिक करियर में कई पार्टियों में रहे लेकिन वो 1 सीट से 5 बार सांसद चुने गए थे। वो 1996 से 1998 के दौरान केंद्र में राज्य मंत्री भी थे।

Related posts