पन्ना: व्यक्ति को मिला करोड़ो का बेशकीमती हीरा, डायमंड आफिस में जमा किया हीरा

पन्ना। देश में हीरे की खदान के लिए मशहूर मध्य प्रदेश के पन्ना जिले ने एक और गरीब मजदूर की किस्मत चमका दी है। पिछले 25 साल से धरती के नीचे से हीरे की तलाश कर रहे पन्ना के बृजेश उपाध्याय की किस्मत आखिरकार रंग लाई और उसे 29.46 कैरेट का हीरा मिला हैं। पिछले 20 दिनों में यह चौथा अवसर है जब एक महीने के दौरान ही पन्ना की जमीन से 4 बेशकीमती हीरे मिले हैं। इन सभी हीरों में बृजेश को मिला हीरा सबसे कीमती है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत करोड़ों में बताई जा रही है हालांकि अभी आधिकारिक तौर पर इस हीरे की कीमत कितनी है, इसका मूल्यांकन नहीं किया गया है।
पिछले दो दशक से ज्यादा समय से हीरे की तलाश में लगे बृजेश की खुशी का आज ठिकाना नहीं है क्योंकि उसे पता है कि उसने जो 29.46 कैरेट का हीरा धरती के नीचे से ढूंढ निकाला है, उसकी कीमत हजार या लाख में नहीं, बल्कि करोड़ों में है। जेम क्वालिटी के इस हीरे को स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी बेशकीमती बता रहे हैं। बृजेश ने बताया कि खदान में जब पहली बार इस हीरे पर उसकी नजर पड़ी थी, तो एकबारगी लगा था कि कांच का टुकड़ा है लेकिन गौर से देखने पर पता चला कि यह बेशकीमती हीरा है।
खदान में हीरा पाने के बाद बृजेश ने अपने साथियों को इस बेशकीमती और अनोखे हीरे के बारे में जानकारी दी। खदान के आसपास हीरे की तलाश में जुटे अन्य मजदूरों को भी इस बात की बेहद खुशी है कि बृजेश को इतना बेशकीमती हीरा मिला है। साथियों के साथ बृजेश ने इस हीरे को पन्ना में स्थित डायमंड ऑफिस में जाकर जमा कराया, जहां अधिकारियों ने उसे जानकारी दी कि इस तरह का हीरा बहुत कम ही मिलता है। इसकी कीमत करोड़ों में होगी। अधिकारियों ने बताया कि यूं तो पन्ना की खदानों में अलग-अलग प्रकार के हीरे मिलते रहते हैं लेकिन बृजेश को मिला हीरा अनोखा और बेहद कीमती है। इस तरह का हीरा कई वर्षों के बाद मिला है। बेशकीमती हीरा मिलने से बृजेश के परिवारवालों की खुशी का भी ठिकाना नहीं है।

ऑक्शन के बाद मिलेगी राशि
पन्ना के डायमंड ऑफिस के अधिकारियों का कहना है कि बृजेश उपाध्याय को मिले हीरे की कीमत करोड़ों रुपए हो सकती है। इस बात की पुख्ता जानकारी नीलामी यानी हीरे के ऑक्शन के बाद ही होगा। अधिकारियों ने बताया कि इस हीरे को नीलामी में रखा जाएगा। इसमें जो कीमत तय होगी, उसकी रॉयल्टी (टैक्स) काटने के बाद बाकी बचे सारे रुपए बृजेश को दे दिए जाएंगे।

Related posts

Leave a Comment