पथराव की घटना पर अजय सिंह ने शिवराज से पूछा— बताओ घटना के पीछे किसका हाथ

भोपाल। गत सोमवार को एक बार फिर मध्य प्रदेश के महिदपुर रोड पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के काफिले पर हमले की घटना सामने आई है। यह हमला जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान सोमवार रतलाम जिले के कल्लूखेड़ी गांव में हुआ। पथराव के समय मुख्यमंत्री रथ में मौजूद थे। हालांकि उन्हें कोई चोट नहीं आई थी। पुलिस ने कहा कि वह पूरी तरह सुरक्षित रहे। बीजेपी ने पत्थरबाजी का ठीकरा इस बार भी कांग्रेस पर फोड़ा है इसी घटना को लेकर नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने ट्वीट कर पूछा है कि काफिले पर पथराव करने के पीछे किसका हाथ है, सीएम और गृहमंत्री बताएं।

सोमवार रात जनआशीर्वाद यात्रा लेकर महिदपुर रोड आए मुख्यमंत्री के काफिले पर रतलाम के कल्लूखेड़ी गांव में पथराव हो गया, जिससे पुलिस की 3 गाड़ियों के कांच फूट गए।

पथराव में उज्जैन के एडिशनल एसपी अभिषेक दीवान समेत 3 पुलिसकर्मी घायल हो गए। इस दौरान यह भी बात उठी कि सीएम के रथ पर भी पथराव हुआ है और कांच फूटा है। हालांकि इसकी पुष्टि किसी ने नहीं की।

पुलिस ने आस-पास के गांव में सर्चिंग करके लगभग ढाई सौ से ज्यादा लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की लेकिन फिलहाल इस घटना के मामले में किसी गिरफ्तारी की सूचना नहीं है। करणी सेना के प्रदेश संयोजक यादवेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि करणी सेना मामले में अपने स्तर पर जांच कर रही है। हमारे कार्यकर्ताओं का तो इसमें कोई हाथ नहीं है। करणी सेना ने अब तक काले झंडे दिखाकर अपना विरोध दर्ज करवाया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि शिवराज की जनआशीर्वाद यात्रा में हुआ पथराव निंदनीय है लेकिन यह भी देखना होगा कि कही ना कही जनआक्रोश है, जनता ख़ुद का ठगा महसूस कर रही है।

Related posts