नाव दुर्घटना की जांच पर शिवराज ने उठाए सवाल, ADM अपने वरिष्ठ अधिकारियों की गलती कैसे निकालेंगे?

भोपाल: बीती सुबह राजधानी में गणेश विसर्जन के समय हुए दर्दनाक हादसे के बाद 11 लोगो की मृत्यु का वीडियो भी वायरल हुआ हैं जो भयानक हैं। हादसे की ख़बर मिलते ही पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान हमीदिया अस्पताल पहुंचे और मृतकों के परिवार से मिले। पीड़ित परिवार उनसे लिपटकर रो पड़े। शिवराज सिंह ने सरकार से पीड़ित परिवारों को 25 लाख का मुआवज़ा और नौकरी देने की मांग की हैं। शिवराज सिंह चौहान ने कहा इस नाव दुर्घटना के लिए साफ तौर पर कलेक्टर और नगर निगम कमिश्नर जिम्मेदार हैं। जिला प्रशासन और नगर निगम का काम है कि विसर्जन घाट पर गोताखोरों की व्यवस्था रखें। पुलिस और होमगार्ड की जिम्मेदारी है कि नाव में अधिक लोगों को को न बैठने दिया जाए। उन्होंने कहा मजिस्ट्रियल जांच भोपाल एडीएम करेंगे। गलती कलेक्टर और नगर निगम कमिश्नर की है। शिवराज सिंह ने सवाल उठाया कि अपने वरिष्ठ अधिकारियों की गलती एडीएम कैसे निकालेंगे। 11 लोगों की मौत हुई है, कलेक्टर, नगर निगम कमिश्नर सहित अन्य अधिकारियों को हटाकर इनके वरिष्ठ अधिकारी से जांच कराना चाहिए। पुलिस के आला अधिकारी इसके लिए जिम्मेदार हैं।

Related posts

Leave a Comment