धार: गणपति घाट बना मौत का घाट, ट्राले ने बाइक और दो वाहनों को लिया चपेट में, 4 की दर्दनाक मौत

धार। मध्यप्रदेश में सड़क हादसे बढ़ते ही जा रहे हैं। रफ्तार का कहर जारी है। लापरवाही से वाहन चलाना भी हादसे का मुख्य कारण है। ताजा मामला धार जिले में सामने आया है। जहां इंदौर की तरफ से आ रहा ट्रॉले का गणपति घाट उतरने के दौरान ब्रेक फेल हो गया जिससे ट्राले ने पहले तो दो वाहनों को जोरदार टक्कर मारी फिर एक बाइक को चपेट में ले लिया। हादसे में चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे में ट्रक का चालक स्टेयरिंग के बीच फंस गया। क्रेन की सहायता से बाहर उसे निकाला गया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को पीएम के लिए भेजा। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। बता दें की गणपति घाट पर आए दिन हादसे होते रहते हैं। यहां हादसे का एक मुख्य कारण है घाट की ढलान। ढलान इतनी ज्यादा है कि उतरते समय वाहनों की गति तेज हो जाती है। इससे माल से भरे वाहन अनियंत्रित होकर हादसे का शिकार हो जाते हैं या आगे चल रहे वाहनों को ठोंक देते हैं। लगातार हादसों के बाद भी प्रशासन इसके सुधार को लेकर बिलकुल भी गंभीर नहीं है। लोगों ने कई बार प्रदर्शन भी किया नेताओं को स्थित से अवगत कराया लेकिन समस्या ज्यो की त्यो बनी हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार, कल शनिवार शाम को इंदौर तरफ से आ रहे ट्रॉला यूपी-71, टी-2293 का गणपति घाट से उतरते वक्त ब्रेक फेल हो गया और वह आगे चल रहे कंटेनर एचआर-47, सी-1799 को टक्कर मारते हुए एक अन्य ट्रॉले में पीछे से जा घुसा। इसके बाद ट्राले ने एक बाइक को अपनी चपेट में ले लिया। इस हादसे में बाइक सवार 3 लोगों की और एक ट्राला चालक की मौत हो गई। हादसे में ट्राले का चालक स्टेयरिंग के बीच फंस गया। क्रेन की सहायता से बाहर उसे निकाला गया। हादसे में बाइक पूरी तरह से चकनाचूर हो गई। बाइक का अगला टायर, इंजन, हेलमेट सब अलग-अलग बिखरे पड़े मिले।

हादसे में मृत लोगों की पहचान बाइक पर सवार इशाल (42), सलीम शेख (32) और श्याम महाजन सभी निवासी खरगोन की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं ट्रॉले का ड्राइवर जितेंद्र श्रीवास्तव (55) निवासी कानपुर गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे एंबुलेंस की मदद से उपचार के लिए धामनोद अस्पताल भेजा गया, जहां उसकी मौत हो गई। शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा गया। हादसे के बाद घाट पर कई घंटों तक रोड जाम रहा।

Related posts