देर रात गुज़री लूट की वारदात पुलिसके अब तक खाली हाथ!!!

Ps छोला ब्रेकिंग

जनसम्पर्क-life

“`चंद क़दमो पर गश्त देती पुलिस को ठेंगा दिखाकर लूटेरो ने लाखो की लूट कर फ़रियादी के जिस्म को किया चाकूओं से छल्ली चंद !!“`
≈अनम इब्राहीम≈
7771851163

भोपाल: अपराधियों के हौसलों में दिन दुगना रात चोगना होता जा रहा है इज़ाफ़ा। बाज़ार हो या आम रास्ता, वीरान हो या मकान वारदातों को अंज़ाम देने वालो के लिए शहर की हर जगह मेहफ़ूज़ है।

राजधानी के थाना छोला इलाक़े में तक़रीबन 2 बजे रात को जब रहवासी गहरी नींद की आगोश में गोते लगा रहे थे और वीरान सड़कों पर हिफाज़त की मंशा से 100 डायल में पुलिस गश्त दे रही थी तभी बेख़ौफ़ आधा दर्ज़न से ज़्यादा लूटेरे कबाड़े के व्यापारी हारिश खान नामक युवक के घर के दरवाज़े पर दस्तक देते हुए दरवाज़ा खटखटाते है जैसे ही हारिश आंखों को मलते हुए दरवाज़ा खोलता है वैसे ही लूटेरे धारदार हथियारों से हारिश पर सिलसिलेवार वार करते चले जाते है।

 

रक्त से लतपथ हारिश मदद के लिए चिल्लाने की कोशिश करता है तो वैसे लूटेरो उस के मुहं को दबा देते है पास में खड़ी हारिश के वाहन से लूटेरे नगदी 3 लाख रुपये हारिश की आंखों के सामने से लूट कर रवाना हो जाते है। मौक़ा-ए-वारदात के थोड़ी ही दूरी पर पुलिस मौज़ूद रहती है, वक़्त रहते रहवासी पुलिस को इत्तेला कर बुला लेते है लूट की वारदात को अभी चंद लम्हे ही गुज़रे थे कि पुलिस घटना स्थल पर धमक जाती है लेकिन अफ़सोस लूटेरो को दबोचने में पुलिस पूरी तरह बेअसर साबित होती है खेर रक्तरंजित फड़फड़ाते फ़रियादी को तत्काल एक निजी चिकित्सालय में भर्ती करवा कर राहत परोस दी जाती है लेकिन फ़रियादी के परिवार के हाथ आधी रात से सुबह तक और सुबह से दोपहर हो जाने के बाद भी पुलिस एफआईआर नही दे पाती है।बहरहाल इस लूट की वारदात से एक बात तो साफ़ जहीर होती है कि रात में गश्त दे रहे पुलिस कर्मी व थाना प्रभारी की लापरवाही बरतने वाले है वक़्त रहते लूटेरे पुलिस के हाथ से फिसल गए और थाना पुलिस मामले को दबाने के लिए अब तक कोशिशें कर रही है।

क्या है पूरा मामला??
पढ़िए प्रदेश की हक़ीक़त के आगामी अंक में

Related posts