दिल्ली में रिक्शा चालक ने वर्दीधारी पर चढ़ा दी गाड़ी…फिर जमकर हुई पिटाई

वेस्ट दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में अपराध चरम पर है। बेखौफ बदमाश राजधानी की सड़कों पर हर घंटे झपटमारी कर रहे हैं। लूट, हत्या, हत्या के प्रयासों के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। बदमाश इतने बेखौफ हैं कि पुलिस वालों को भी अपना शिकार बना रहे हैं। ऐसा ही एक मामला राजधानी के मुखर्जी नगर इलाके में रविवार शाम को सामने आया। जहां ग्रामीण सेवा चालक ने एक पुलिस वाले के पैर पर वाहन चढ़ा दिया। इसी बात को लेकर पुलिस वाले और चालक में कहासुनी हो गई। जिसके बाद चालक ने वहां से बाहर आकर कृपाण निकालकर पुलिसवाले को धमकाने लगा। हालांकि हालात को देखकर चालक के बेटे ने अपने पिता को कई बार वहां से ले जाने की कोशिश की, लेकिन चालक ने उसकी एक नहीं सुनी। जिसके बाद पुलिस वाले ने थाने से और पुलिस वालों को बुला लिया।

पुलिस वालों को अपनी तरफ आता देखकर चालक ने एक बार फिर कृपाण निकाल ली। जिसने कई बार पुलिस वालों पर वार करने की कोशिश की। पुलिस वाले बचते रहे। इस बीच एक पुलिस वाले ने चालक को पीछे से पकड़ लिया। जिसपर चालक ने कृपाण से हमला किया। पुलिस वाले ने घायल होने के बावजूद चालक को पकड़े रखा। पुलिस वालों ने उसपर लाठियों से कई बार बार वार किया गया। लेकिन चालक ने भी पुलिस वाले को सड़क पर गिरा दिया। काफी मशक्कत के बाद घायल पुलिस वाले को चालक से छुड़ाया गया। इस बीच पुलिसवालों ने चालक के बेटे को डंडों से बुरी तरह से पीटा और घसीटते हुए थाने ले गए। ठीक इसी तरह से चालक को भी थाने ले गए। जिनकी पुलिस वालों ने बुरी तरह से पिटाई की।

दूसरी तरफ घायल पुलिस वाले के सिर में गंभीर चोटें लगी हैं। उनको खून से लथपथ हालात में अस्पताल में भर्ती करवाया गया। मामला बढ़ता देखकर पुलिस अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर मामले की जानकारी ली। मामले ने तूल उस समय पकड़ लिया, जब देर शाम एक समुदाय के लोग अचानक थाने के बाहर जमा हो गए। जिन्होंने सड़क पर बैठकर पुलिस वालों पर कार्रवाई करने की मांग की। मामले में कुछ राजनेताओं ने भी मौके पर पहुंचकर जानकारी ली और पुलिस अधिकारियों से भी मिले। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि कुछ मोबाइल वीडियो मिली हैं। जिसमे साफ तौर पर चालक पुलिस वाले पर कृपाण निकालकर उनको डरा रहा है और बाद में उनपर हमला भी करता नजर आ रहा है। जिसके बाद उसपर काफी मशक्कत के बाद पुलिस वालों ने काबू किया है।

चालक को हिरासत में लेकर वारदात में इस्तेमाल कृपाण जब्त कर ली गई है। देर रात तक थाने में दोनों पक्षों की ओर से गहमा-गहमी का माहौल था और बड़े अधिकारी मामले की गंभीरता को समझ रहे थे। सूत्रों के अनुसार, पुलिसकर्मियों की क्या गलती थी, इस पर भी जांच की जा रही है और उन सख्त कार्रवाई की संभावना से इंकार नहीं किया जा रहा है।

Related posts