दिल्ली में छाई जहरीली धुंध की मोटी चादर, दीवाली तक और बिगड़ेंगे हालात

नई दिल्ली। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की वजह से हेल्थ इमरजेंसी की स्थिति बन चुकी है। सोमवार सुबह स्मॉग ने भी दस्तक दे दी है। माना जा रहा है कि दिवाली के दिन से स्मॉग से दिल्ली-एनसीआर के हालात और बदतर होंगे। जानकारी के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर की हवा में प्रदूषण का स्तर इतना बढ़ चुका है कि लोग न तो घर के बाहर और न घर के अंदर ही शुद्ध हवा में सांस ले पा रहे हैं। आलम यह है कि सार्वजनिक स्थल के साथ-साथ घर और दफ्तर में भी लोगों को जहरीली हवा में सांस लेना पड़ रहा है। यहां पर बता दें कि सोमवार सुबह से दिल्ली-एनसीआर में स्मॉग छाया हुआ है। इसके चलते लोगों को सुबह-सुबह सांस लेने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

दिल्ली में कई जगहों पर हवा की क्वॉलिटी खतरनाक स्तर पर पहुंच गई है। हालांकि तापमान गिरने के चलते लोगों का हल्की ठंड का अहसास भी होने लगा है। दो दिन बाद यानी बुधवार को दिवाली है और उससे महज दो दिन पहले स्मॉग में लिपटी सुबह को लेकर लोग परेशान हैं। पहले ही यह अनुमान जताया जा चुका है कि दिवाली के दिन सबसे खराब हालत होगी, हवा की गुणवत्ता तब तक और खराब हो जाएगी।स्मॉग के चलते सबसे ज्यादा परेशान बच्चे और बुजुर्ग हैं। स्मॉग उन लोगों को ज्यादा परेशान करता है, जिन्हें सांस की बीमारी यानी अस्थमा आदि होता है। ऐसे लोगों को बाहर निकलते ही दम घुटने जैसा महसूस होने लगता है।

विशेषज्ञों के मुुताबिक, अधिक देर तक ऐसी जहरीली हवा में रहने से उनकी हालत और भी खराब हो सकती है।ऐसे में इस जहरीले स्मॉग से बचने के लिए आप मास्क का प्रयोग कर सकते हैं। इसके अलावा आंखों की सुरक्षा के लिए भी आप चश्मे का प्रयोग कर सकते हैं। हालांकि, लगातार प्रदूषण के कारण सांस लेने में तकलीफ का सामना कर रही दिल्ली को रविवार को दिन में कुछ देर के लिए राहत की सासें नसीब हुई। दिल्ली और आसपास के इलाकों में दिनभर 20 किलोमीटर की तेज रफ्तार से हवा चली जिससे यह स्थिति बनी।।

Related posts