दर्दनाक हादसा: जर्जर प्राथमिक विद्यालय की छत तोड़ रहे दो मजदूरों की मौत, एक घायल

प्रतापगढ़। जनपद के लालगंज कोतवाली क्षेत्र में बुधवार को प्राथमिक विद्यालय की पुरानी छत तोड़ने के दौरान दीवार सहित छत ढह गई। घटना में मलबे में दब कर दो मजदूरों की मौत हो गई, वहीं एक मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे के समय स्कूल में लगभग 150 बच्चे और शिक्षक सुबह की प्रार्थना कर रहे थे। इस घटना के बाद सनसनी फैल गई।

लालगंज विकास खण्ड स्थित धाधुवा गाजन प्राथमिक विद्यालय के जर्जर भवन में मरम्मत का कार्य ग्राम पंचायत द्वारा कराया जा रहा था। विद्यालय की छत तोड़ने का काम बद्री सरोज (48) पुत्र रामकिशुन और झुरई सरोज (55) पुत्र शिवरतन व रामनेवाज गुप्ता (42) पुत्र रामेश्वर निवासी धाधुवा गाजन कर रहे थे। इसी दौरान जर्जर छत और दीवार अचानक ढह गई, हादसे की सूचना पर उपजिलाधिकारी लालगंज, तहसीलदार अनिल यादव और पुलिस उपाधीक्षक ओपी द्विवेदी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों की सहायता से मलबे में दबे मजदूरों को बाहर निकाला। तब तक बद्री और झुरई की मौत हो गयी थी और रामनेवाज गंभीर रूप से घायल था। उसे इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लालगंज ले जाया गया, जहां से जिला अस्पताल रेफर किया गया। पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

वहीं घटना से गुस्साये ग्रामीणों ने वाराणसी-लखनऊ राजमार्ग को जाम कर दिया और मृतकों के परिजनों को मुआवजे की मांग की। आलाधिकारियों ने उन्हें आश्वासन देकर जाम खुलवाया। विद्यालय के प्रधानाध्यापक लछ्मीधर दुवे ने घटना के बारे में बताया कि वर्ष 2002 में बनाया गया विद्यालय का भवन जर्जर हो गयी था, जिसके मरम्मत का कार्य ग्रामसभा से प्रस्ताव के बाद ग्राम प्रधान द्वरा कराया जा रहा था। सुबह तीन मजदूर छत तोड़ रहे थे तभी अचानक दीवार सहित छत गिर गई जिसमें दब कर दो मजदूरों की मौत हुई है।

Related posts