डायमंड किंग सावजी ढोलकिया की दरियादिली: दीवाली पर कर्मचारियों को देंगे कीमती गिफ्ट्स

गुजरात। बॉस को कर्मचारियों पर भड़कते तो सभी ने खूब देखा है। लेकिन कोई बॉस अपने कर्मचारियों पर इतना मेहरबान हो जाएगा की उन्हेंं कारें और फ्लेट गिफ्त कर दे। तो सुनने में थोड़ा अजीब लगेगा। लेकिन इसे एक बार फिर कर दिखाया है गुजरात के मशहूर डायमंड कारोबारी सावजी ढोलकिया ने। सावजी इस बार अपने डायमंड वर्करो को दीपावाली का ऐसा शानदार तोहफा देने जा रहे हैं, जिसके बाद हर कोई कहने को मजबूर हो जायेगा, कि बॉस हो तो ऐसा ! दरअसल हर बार की तरह इस बार भी डायमंड किंग दीपावली पर बंपर गिफ्ट देने जा रहे हैं। ये गिफ्ट है कार का, जो कुल 600 वर्करों को दिया जायेगा। ये गिफ्ट दिपावली बोनस के तौर पर मिलेगा।

ये कोई पहला मामला नहीं है जब जब सावजी भाई ढोलकिया ने अपने दीपावली बोनस से सभी को चौकाया है। हर साल उनका गिफ्ट इस कदर महंगा होता है कि लोग हैरान रह जाते हैं। अब तक अपने वर्करों को सावजी ना सिर्फ गाड़ियां, बल्कि बंगला, जेवरात और भारी कैश भी बोनस गिफ्ट में दे चुके हैं। सूरत के इस कारोबारी का ना सिर्फ गुजरात बल्कि देश- विदेश में हरे कृष्ण डायमंड एक्सपोर्ट कंपनी के नाम से हीरा का बड़ा कारोबार है। सावजी भाई ढ़ोलकिया दीपावली के ठीक पहले अपनी कंपनी के डायमंड वर्कर्स को कार की चाबी गिफ्ट करने वाले हैं।

उनकी डायमंड एक्सपोर्ट कंपनी में करीबन 5500 कमर्चारी काम करते हैं। उनकी कंपनी का वार्षिक टर्नओवर 6 हजार करोड़ रुपये है। सावजी अपने कर्मचारियों को पहली बार करीबन 1200 कर्मचारियों को कार, फ्लैट और ज्वैलरी गिफ्ट में देकर खूब चर्चा में आये थे। उसके बाद 1700 कर्मचारियों को कार घर और ज्वैलरी गिफ्ट देकर अपने कर्मचारियों के प्रति दरियादिली रखने वाले सावजी भाई ढोलकिया के चर्चे देश भर में होते हैं। इससे पहले अपनी कंपनी के तीन कर्मचारियों को मर्सिडीज गिफ्ट देकर और इस बार दीवाली पर अपने कर्मचारियों को 600 कारें देकर एक बार फिर साबित किया है कि बॉस हो तो ऐसा।

पिछले महीने 3 कर्मचारियों को गिफ्ट में मर्सेडीज बेंज
पिछले महीने ही ढोलकिया ने अपने तीन कर्मचारियों को (जिन्होंने नौकरी के 25 वर्ष पूरे कर लिए हैं) मर्सेडीज बेंज गिफ्ट की थी कार की चाबियां गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के हाथों से कर्मचारियों को दिलाई गईं। 1 करोड़ रुपये की कीमत की जीएल फॉर्मेटिक मॉडल वाली कारें इन कर्मचारियों को बतौर सरप्राइज गिफ्ट दी गई थीं।

2011 से हर वर्ष देते हैं अनोखा तोहफा
बता दें कि ढोलकिया 2011 से हर साल कर्मचारियों को इसी तरह के दिवाली बोनस देते रहे हैं। 2015 में उनकी कंपनी ने अपने कर्मचारियों को दिवाली बोनस के तौर पर 491 कार और 200 फ्लैट बांटे थे। 2014 में भी कंपनी ने कर्मचारियों के बीच इन्सेंटिव के तौर पर 50 करोड़ रुपये बांटे थे।

कर्ज लेकर शुरू किया था हीरा कारोबार
सावजी ढोलकिया अमरेली जिले के दुधाला गांव के रहने वाले हैं। अपने चाचा से कर्ज लेकर उन्होंने हीरा कारोबार शुरू किया और अपनी मेहनत से उसे इस मुकाम तक पहुंचाया।

अरबपति होने के बावजूद उन्होंने हाल ही में अपने बेटे द्रव्य को पैसे की अहमियत की सीख देने के लिए सिर्फ 7 हजार रुपये के साथ कोची शहर में खुद की दम पर रोजी-रोटी कमाने भेजा था। एमबीए कर चुके बेटे को अपने पैरों पर खड़े होने की कला सीखने के लिए उन्होंने ऐसा किया था।

Related posts