ठंड से कांपा मध्यप्रदेश, दूसरे राज्यों का भी हाल बेहाल

भोपाल। उत्तर भारत की तरफ से आ रही बर्फीली हवाओं से राजधानी भोपाल सहित मध्य प्रदेश के अनेक जिले ठिठुर रहे हैं। आज बुधवार की सुबह अन्य दिनों के मुकाबले ठंडी रही और तापमान में गिरावट दर्ज की गई। ठंड से लोगों को बचाने के लिए प्रशासन को जगह-जगह अलाव जलाने पड़ रहे हैं।

राज्य में न्यूनतम तापमान में गिरावट आई है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि तापमान में गिरावट के साथ ठंड बढ़ने के आसार हैं। भोपाल का आज बुधवार को तापमान 23 डिग्री सेल्सियस, इंदौर का 24, ग्वालियर का 19 डिग्री और जबलपुर का न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

शीतलहर की चेतावनी
प्रादेशिक मौसम विभाग भोपाल ने आगामी 24 घंटों में प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में शीतल दिन की चेतावनी जारी की है। इसके अलावा भोपाल, उज्जैन, होशंगाबाद, जबलपुर, शहडोल, सागर संभाग में शीतलहर की चेतावनी भी जारी की गई है। इसके साथ ही मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक भोपाल, शहडोल और सागर संभाग में पाला पड़ सकता है।

दूसरे राज्यों में भी ठंड शबाब पर
पहाड़ों में बर्फबारी के बाद देश में ठंड अपने शबाब पर आ रही है। आलम यह है कि मैदानी राज्यों में ठंड शिमला और मनाली से ज्यादा लग रही है। राजस्थान जहां पारा माइनस में चला गया है वहीं दिल्ली में शिमला से ज्यादा ठंड पड़ रही है। कश्मीर घाटी के लगभग सभी इलाकों में न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु से नीचे चल रहा है। माता वैष्णो देवी आधार शिविर कटरा का न्यूनतम तापमान 7.0 डिग्री रहा।

फतेहपुर में माइनस 4.5 डिग्री पहुंचा पारा
राजस्थान के सीकर जिले के फतेहपुर में पारा माइनस 4.5 डिग्री सेल्सियस से नीचे चला गया है। खेतों में फसलों पर बर्फ जम गई। राजस्थान के एकमात्र पर्वतीय पर्यटन स्थल माउंट आबू में न्यूनतम तापमान माइनस दो डिग्री रहा। राज्य के कई शहरों में शीतलहर चलने का अलर्ट जारी किया गया है।

Related posts