जावरा हत्याकांड का खुलासा: पूर्व किराएदार बाप बेटे ने की थी दंपत्ति की हत्या

रतलाम। रतलाम जिले के जावरा ताल नाका क्षेत्र में 16 पहले हुई बुजुर्ग दंपत्ति की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। घटना को अंजाम एक पिता पुत्र ने दिया था। आरोपियों ने दंपत्ति की झोपड़ी के किराए के पैसे को लेकर हुए विवाद में ईंट से वार कर और गला घोटकर उनकी हत्या की थी। वहीं एक आरोपी ने महिला के साथ दुष्कर्म भी किया था।

जानकारी के अनुसार, 21 सितम्बर को थाना जावरा शहर ताल नाका क्षेत्र में रहने वाले बुजुर्ग दंपत्ति रतनलाल एवं उसकी पत्नी रामीबाई की अज्ञात व्यक्ति हत्या कर कमरे की कुन्दी लगाकर भाग गए थे। घटना का पता तब चला जब घर से बदबू आई। एसपी गौरव तिवारी ने घटना स्थल का निरीक्षण कर टीम गठित कर जांच शुरू की। रिश्तेदारों और पड़ोसियों से पूछताछ की तो पता चला कि दो व्यक्तियों को उस दिन देखा गया था जो उसके बाद से शहर में दिखाई नहीं दिए। पुलिस ने दोनों को पकड़कर उनसे पूछताछ की तो उन्होंने हत्या करना स्वीकार कर लिया।

आरोपियों की पहचान शम्भुलाल व उसके बेटे कालू उर्फ गौरीशंकर के रूप में हुई है। शम्भुलाल ने बताया कि वे लोग जावरा शहर में रहकर दिन दाहाडी मजदूरी करते है तथा जावरा में जगह-जगह खाली जमीन पर झोपड़ी बनाकर रहते थे। आरोपी एक वर्ष पूर्व रामीबाई की खाली जमीन पर जहां अब नया मकान बन गया है, झोपड़ी बनाकर लगभग तीन माह किराये से रहे थे और आरोपी पांच सौ रूपये मृतक रतनलाल को किराया देते थे। 18 सितम्बर के दिन दोनों आरोपी पिता और बेटे बादरी जिला मन्दसौर से जावरा पहुंच कर रास्ते में शराब पीते हुए व साथ में शराब लेकर रात में रतनलाल के घर पहुँच गये थे। शराब पीने के दौरान रतनलाल व आरोपी शम्भुलाल में पुराने पांच सौ रूपये एडवांन्स झोपड़ी के किराये को लेकर विवाद हो गया। मृतक ने उसे गाली दे दी…गुस्से में उसने रतनलाल को मारने के उद्देश्य से पास में पड़ी ईट से सिर पर वार कर दिया। रतनलाल के सिर से खून निकला और मौके पर ही गिर गया और उसकी मौत हो गई। यह सब रमीबाई ने देख लिया था। फिर दोनों महिला को अंदर कमरे में खींचकर ले गए और उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया और फिर उसे भी ईंट से मार दिया। इसके बाद उसका गला दबाकर हत्या कर दी। और बाहर से कुंडी लगाकर चले गए।

Related posts