छत्तीसगढ़ पुलिस ने लिया बदला: भाजपा विधायक भीमा मंडावी के एक कातिल को मार गिराया

दंतेवाड़ा। छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का आतंक जारी है। आज रविवार को भी दंतेवाड़ा जिले में सुरक्षा बलों और नक्सलियों में मुठभेड़ हुई। जिसमें एक शीर्ष नक्सली मारा गया। पुलिस ने यह जानकारी दी है। मारा गया नक्सली अप्रैल में हुए एक आईईडी विस्फोट में कथित रूप से शामिल था जिसमें भाजपा विधायक भीमा मंडावी मारे गये थे।

दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि यह मुठभेड़ किरंदुल थाना क्षेत्र के हिरोली के जंगलों में उस समय हुई जब पुलिस के जिला रिजर्व गार्ड (डीआरजी) नक्सल विरोधी अभियान चला रहे थे। उन्होंने बताया कि रायपुर से लगभग 450 किलोमीटर दूर हिरोली में जब पुलिस दल आगे बढ़ रहा था तो दोनों पक्षों के बीच गोलीबारी हुई।

पल्लव ने बताया कि नक्सलियों के भागने के बाद नक्सलियों की मलानगिर एरिया कमेटी के स्थानीय संगठन दस्ते के सदस्य गुड्डी का शव मिला। मौके से एक रिवाल्वर और छह गोलियां बरामद की गई है। मारे गये नक्सली के भाजपा विधायक भीमा मंडावी और चार सुरक्षाकर्मियों की हत्या समेत नक्सली हिंसा के लगभग 40 मामलों में शामिल होने का संदेह है।

गौरतलब है कि गत नौ अप्रैल को दंतेवाड़ा में श्यामगिरि गांव के निकट एक आईईडी विस्फोट में मंडावी और पुलिसकर्मी मारे गये थे। गुड्डी के सिर पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित था। पुलिस अधिकारी ने बताया कि डीआरजी के हाल में गठित किये गये महिला दस्ते ‘दंतेश्वरी लड़ाके’ के कमांडो ने भी नक्सलियों के साथ रविवार को हुई मुठभेड़ में हिस्सा लिया।

Related posts