चुनाव प्रचार करने बिहार पहुंचे शिवराज, कांग्रेस पर किया हमला

पटना। लोकसभा चुनाव को कुछ ही दिन शेष बचे हैं और तमाम दल चुनाव प्रचार में जुट गए हैं। इसी कड़ी में मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को बिहार के दरभंगा पहुंचे। वह यहां अपनी पार्टी के प्रत्याशी गोपाल ठाकुर के नामांकन कार्यक्रम में शामिल हुए। शिवराज सिंह चौहान ने शाम को संवाददाता सम्मेलन में कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा के खिलाफ महागठबंधन के नाम पर देश के राज्यों में कांग्रेस क्षेत्रीय दलों के साथ भी गठबंधन नहीं कर सकी और महागठबंधन में यह पूरी तरह साफ हो गई है।

शिवराज ने कहा कि उत्तर प्रदेश,पश्चिम बंगाल, दिल्ली, केरल हर जगह कांग्रेस को क्षेत्रीय दलों ने दरकिनार कर दिया और बिहार में भी राष्ट्रीय जनता दल ने इसकी जो स्थिति की है वह किसी से छुपी नहीं है। महागठबंधन को ठगबंधन की संज्ञा देते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी परंपरागत सीट अमेठी में अपनी संभावित हार से डर कर वायनाड चले गए हैं। उन्होंने कहा कि जिस नेता और सेनापति में जीत का आत्मविश्वास नहीं हो उसका हश्र आसानी से समझा जा सकता है। लोकसभा के चुनावी मुद्दों की चर्चा करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इस बार का चुनाव नेतृत्व, विकास और जनकल्याणकारी योजनाओं के आधार पर लड़ा जा रहा है।

महागठबंधन को नेतृत्व विहीन बताते हुए उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में एक ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसा शक्तिशाली नेतृत्व है जिनके नेतृत्व में भारत का उदय हो रहा है और दूसरी तरफ महागठबंधन में नेतृत्व का कोई चेहरा ही नहीं है और जनता असमंजस में है कि वह किस पर भरोसा करे। महागठबंधन में प्रधानमंत्री के दावेदारों की एक लंबी लाइन है। भारतीय जनता पार्टी को बहुमत मिलने और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार बनने का दावा करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार में देश और राज्यों में हुए विकास का मुद्दा जनता के सामने है जबकि महागठबंधन में विकास की कोई चर्चा नहीं हो रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सभी जातियों और वर्गों के लिए चलायी गयी जन कल्याणकारी योजनाओं की वजह से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को जनता का अपार समर्थन मिल रहा है जबकि महागठबंधन में जनता के कल्याण की कोई चर्चा ही नहीं है।

इसके अलावा शिवराज ने बिहार वासियों को दिल से धन्यवाद दिया। शिवराज ने पटना में वहां की पारंपरिक डिश लिट्टी चोखा खाया और इसकी जानकारी सोशल मीडिया पर दी। उन्होंने लिखा कि ठेठ बिहार की माटी से जुड़ा यह व्यंजन अद्भुत स्वाद से भरा हुआ है। इतना स्वादिष्ट कि खाते ही रह गया क्योंकि इसमें जनता का प्रेम भी था। अद्भुत है बिहार और बिहार की जनता!

Related posts