खुलासा: पैसे के लेनदेन को लेकर की थी देवर-देवरानी ने भाभी की हत्या

सिवनी। छपारा थाना क्षेत्र के तिलबोड़ी गांव में महिला की हत्या के मामले में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। महिला की हत्या पैसे के लेनदेन को लेकर दूर के रिश्ते में लगने वाले देवर-देवरानी ने की थी। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान हत्या करने की बात कबूल की है।

पुलिस ने आरोपियों को न्यायालय में पेश करने के बाद सलाखों के पीछे भेज दिया है। दरअसल, 5 अगस्त को खैरमाई टोला की सिरजोबाई की खून से लथपथ लाश मक्का के खेत में मिली थी। सिर और गर्दन में धारदार हथियार के निशान मिले थे और आसपास खून पड़ा हुआ था। छपारा पुलिस ने मृतिक के बेटे की रिपोर्ट पर धारा 265/17 धारा 302 ताहि कायम कर जांच शुरू कर दी थी।

मामले में विवेचना के दौरान पुलिस को जानकारी लगी थी कि दूर के रिश्तेदार रामदयाल से पैसों के लेनदेन पर महिला का विवाद चल रहा था। पुलिस ने संदेह के आधार पर रामदयाल से पूछताछ की और उस पर पैनी नजर रखी गई। पुलिस की सख्ती के सामने रामदयाल टूट गया और उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

रामदयाल ने पुलिस को बताया कि मृतिका सिरजोबाई ने एक साल पहले अपने बेटे की शादी के लिए पांच हजार रुपए उधार लिए थे। रामदयाल का कहना है कि कई बार उसने और उसकी पत्नी ने उससे उधार लिए गए पैसे वापस मांगे जो उसके द्वारा नहीं दिए। 5 अगस्त को रामदयाल अपनी पत्नी शशि के साथ मिलकर महिला से उधारी के पैसे मांगे थे। पैसे न देने की बात से वह और उसकी पत्नी परेशान हो गए।

कुल्हाड़ी से दो बार हमला कर खेत में फेंका शव
पूछताछ में आरोपी ने बताया कि मृतिका सिरजोबाई जब खेत पर काम कर रही थी तभी रामदयाल ने पीछे से उसके सिर पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। जब वह बेहोश होकर गिर गई तो उसने पत्नी के साथ मिलकर उसे उठाकर मक्का के खेत में फेंक दिया।

खून से लथपथ मिली थी महिला की लाश
पति-पत्नी द्वारा महिला की हत्या कर खेत में शव फेंकने के बाद आरोपी को लगा कि सिरजोबाई जिंदा बच गई तो थाने में रिपोर्ट करेगी। इस लिये रामदयाल ने कुल्हाड़ी से उसकी गर्दन अलग कर दी। पुलिस ने आरोपी के बताए पते से हत्या में उपयोग की गई कुल्हाड़ी को बरामद कर दोनों पति-पत्नी को हत्या के मामले में गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश करने के उपरांत जेल भेज दिया है।

Related posts