क्या ट्रांसफर उद्योग भ्रष्टाचार कम्पनी की संचालक है कमलनाथ सरकार??

अनम इब्राहिम
7771851163

मध्य्प्रदेश: भोपाल तलवार की तेज़ धार पर सवार कमलनाथ सरकार अपने ही विधायकों के टूटने से गिरेगी या ट्रांसफर उद्योग भ्रष्टाचार के कारोबार से कुछ कहा नहीं जा सकता। एक तरफ़ तो लोकसभा चुनाव में कमलनाथ के मुख्यमंत्री रहते हुए भी कांग्रेस का सूपड़ा साफ़ हो गया तो वहीं अब केंद्र में मोदी सरकार के बनते ही प्रदेश की नाथ सरकार के भीतर धकधकी मची हुई है कि कोई आसमानी सुलेमानी ना हो जाए। बहरहाल बीजेपी के भीतर नाथ सरकार के कच्चे किले को ढहाने की क़वायद जारी हो चुकी है। चुनाव परिणामों के पूर्व ही बीजेपी के राष्ट्रीय महा सचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा था कि 22 सीटों का दावा करने वाले कमलनाथ क्या चुनाव के बाद 22 दिन तक भी मुख्यमंत्री बने रहेंगे? लिहाज़ा हाल ही में फिर विजयवर्गीय ने एक ट्वीट करते हुए कमलमथ और अहमद पटेल को हवाला के घेरे में घेर लिया। विजयवर्गीय ने लिखा… *हर छापे के बाद कमलनाथ के भ्रष्टाचार की परतें प्याज के छिलके की तरह उतरती जा रही हैं, ट्रांसफर उद्योग से पनपा भ्रष्टाचार अहमद पटेल के द्वारा हवाला तक जा पहुंचा है और इसकी आँच में @OfficeOfKNath के साथ-साथ तुगलक रोड़ भी आ रहा है! भ्रष्टाचार व #INC एक दूसरे के पर्यायवाची बन चुके हैं!*

….. जो भी हो अब देखना ये है कि प्रदेश की सरकार को हिलाने गिराने के लिए बीजेपी के सियासती तरकश से कौन सा तीर छूटता है तब तक के लिए पढ़ते रहिए हर ताज़ा अपडेट जनसम्पर्क-life में।

Related posts