केरल: युवक ने बाढ़ पीड़ितों के लिए डोनेट कर दी अपनी पहली पगार, यह है वजह…

तिरुवनन्तपुरम। केरल में भारी बारिश की वजह से मची तबाही के बीच दुनियाभर के लोग बाढ़ प्रभावितों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। इनमें से एक हैं नर्स लिनि पुथुसेरी के पति जिन्होंने अपनी पहली सैलरी बुधवार को केरल फ्लड रिलीफ फंड में दान की है। लिनि की मौत निपाह पीड़ितों के इलाज के दौरान हो गई थी।

लिनि की मौत के बाद उनके पति सजीश को केरल सरकार ने स्वास्थ्य विभाग में क्लर्क की नौकरी दी थी। अजीश ने केरल के श्रम एवं एक्साइज मंत्री टीएर रामाकृष्णन को कोझीकोड़ में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान दान के रुपये दिए। सजीश ने कहा, “मेरे मुश्किल दौर में पूरा केरल और सरकार मेरे साथ खड़े थे। ऐसे में यह मेरा फर्ज है कि जरूरत के वक्त मैं भी अपना योगदान दूं।

पेरम्बरा थालुक अस्पताल में नर्स के तौर पर कार्यरत लिनि की 21 मई को मौत हो गई थी। वह निपाह वायरस के मरीजों का इलाज कर रही थी, इस दौरान वह भी इन्फेक्शन से पीड़ित हो गईं।

मौत से पहले लिनि ने सजीश को एक भावुक पत्र लिखा था, “मैं जाने वाली हूं। मुझे नहीं लगता कि अब तुमसे मिल पाउंगी। तुम हमारे बच्चों का अच्छे से ख्याल रखना। सोशल मीडिया में यह पत्र काफी वायरल हुआ था। निपाह वायरस के चलते केरल में 17 लोगों की मौत हो गई थी।

वहीं भारी बारिश और बाढ़ की वजह से 8 अगस्त से अब तक केरल में 72 लोगों की मौत हो गई है। वहीं कई हजार लोगों को राहत शिविरों में शिफ्ट किया गया है। मुख्यमंत्री पी विजयन ने बताया कि बाढ़ की वजह से केरल में 8000 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ है।

बुधवार को जिन लोगों को रेस्क्यू किया गया उनमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री वीएम सुधीरन और उनका परिवार भी शामिल था। राजधानी में उनके घर में बाढ़ का पानी घुसने के बाद उन्हें सरकारी गेस्ट हाउस में रखा गया है।

Related posts