कांग्रेस ने हमेशा से जनता को छला: गोपाल भार्गव

भोपाल। ज​ब से कांग्रेस मध्यप्रदेश की सत्ता में आई है तब से ही भाजपा उस पर सियासी हमले कर रही है। पहले कर्ज माफी को लेकर तो अब 72 हजार रूपए से गरीबी दूर करने के मांग पत्र भरवाकर। इसी कड़ी में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने एक बार फिर सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का हमेशा से जनता को छलने का इतिहास रहा है। गरीबी के नाम पर इंदिरा गांधी और राजीव गांधी ने जनता को छला और सत्ता हासिल की। अब राहुल गांधी भी उसी नक्शे कदम पर चल रहे हैं। मध्यप्रदेश में जिस तरह कर्जमाफी का झूठा भ्रम फैलाया गया और सत्ता में आने के बाद उसे पूरा करने से मुकर गए। ठीक उसी तरह अब लोकसभा में भी कांग्रेस 72 हजार रूपए से गरीबी दूर करने के मांग पत्र भरवाकर जनता को प्रलोभन दे रही है जो कि निंदनीय है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस जो मांग पत्र भरवा रही है उसमें स्पष्ट तौर पर लिखा है कि ‘बैंक खाते में 6 हजार रूपए हर महीने जमा करने वाले मांग पत्र’ गरीबी पर वार 72 हजार रुपये सालाना हर परिवार के खाते में इस प्रकार के मांग पत्र में भोली भाली जनता के नाम उनके बैंक खाते की जानकारी और आधार कार्ड नंबर के साथ उनके हस्ताक्षर और अंगूठे लिए जा रहे हैं जो कि खुले रूप से मत प्रभावित करने की दृष्टि से आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है। चुनाव आयोग को इस संबंध में संज्ञान लेना चाहिए।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रलोभन देकर वोट प्रभावित करना चाहती है। विधानसभा चुनाव से पहले भी कर्जमाफी का प्रलोभन दिया गया था। उसी तर्ज पर अब लोकसभा में भी कांग्रेस भ्रम का वातावरण पैदा करने का प्रयास कर रही है। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस झूठ, छल, प्रपंच और षडयंत्र करने में माहिर है। युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने के नाम पर छला गया। किसानों को कर्जमाफी के नाम पर छलने का प्रयास कांग्रेस ने किया। लेकिन अब कांग्रेस की झूठी कर्जमाफी की हकीकत सामने आने लगी है। किसान डिफाल्टर होकर आत्महत्या कर रहे है, बैंकों से नोटिस मिल रहे है। जनता को लूटने वाली कांग्रेस सरकार अपने चार माह के भीतर ही असली रंग बताने लगी है।

Related posts