कमलनाथ सरकार के ढाई सौ दिन की कारगुज़ारी बताएंगे 52 ज़िलों में प्रवक्ता एक साथ कॉन्फ्रेंस करके

भोपाल। कांग्रेस अपने प्रवक्ताओं को डैमेज कंट्रोल करवाने की तैयारी में जुट गई हैं। बता दे कि उमंग सिंघार और दिग्विजय की झड़प से यह तो साफ हो गया हैं कि कमलू सरकार में सब कुछ अच्छा नही हैं जिसके बाद कांग्रेस अब अपनी आबरू बचाने के लिए मध्यप्रदेश में काम नही बोलबच्चन करेगी। कांग्रेस प्रवक्ता एक दिन में सभी 52 जिलों में एक साथ प्रेस कांफ्रेंस कर कमलनाथ सरकार के ढाई सौ दिन में हुए सौ बड़े फैसलों को गिनाने का काम करेंगे। कांग्रेस प्रवक्ता कमलनाथ सरकार के न्यू एमपी के विजन को भी पेश करेंगे। अपने 100 बड़े फैसलों की जानकारी लोगों तक पहुचाने के लिए कांग्रेस ने बारह पन्नों की बुकलेट तैयार की है, जिसे जनता दरबार में पेश किया जाएगा।

कमलनाथ सरकार ने ढाई सौ दिन
>>किसान कर्जमाफी के लिए जय किसान फसल ऋण माफी योजना
>>सस्ती बिजली के लिए इंदिरा गृह ज्योति योजना
>>मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना
>>पिछड़ा वर्ग को 27 फीसदी आरक्षण देने का फैसला
>>एक हजार गौशाला बनाने का फैसला
>>राइट टू हेल्थ लागू करने का प्लान बनाना
>>राइट टू वाटर को अमल में लाना
>>नई रेत नीति लागू करना
>>नॉलेज कारपोरेशन लिमिटेड का गठन करने

कांग्रेस प्रवक्ता दुर्गेश शर्मा के मुताबिक इसी हफ्ते सभी प्रवक्ता जिलों में पहुंच एक साथ प्रेस कांफ्रेंस कर सरकार की उपलब्धियों को गिनाने का काम करेंगे। वहीं कांग्रेस के ढाई सौ दिन के फैसलों पर पार्टी के जवाब में बीजेपी ने 11 सितंबर को प्रदेश भर में आंदोलन का ऐलान किया है। बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा है कि सरकार के फैसलों में अगर दम है तो नगरीय निकाय चुनाव सीधे तौर पर कराने की व्यवस्था को कायम रखा जाना चाहिए।

.

Related posts