कमलनाथ ने उठाई उंगली, कहा-सरकार के 200 करोड़ से हो रहा भाजपा महाकुंंभ

छिंदवाड़ा। मध्यप्रदेश में हो रहे भाजपा महाकुंंभ पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने उंगली उठाई है। मंगलवार को अपने छिंदवाडा स्थित निवास पर प्रेसवार्ता लेकर उन्होंने आरोप लगाया कि शासकीय 200 करोड़ रुपये से भाजपा का महाकुंंभ हो रहा है। ये भाजपा का महाकुम्भ नहीं सरकारी महाकुंंभ है। वहीं व्यापम मुद्दे पर भाजपा द्वारा दायर किये गए परिवाद पर उन्होंने कहा कि ये कोर्ट का विषय है। यदि गलत हुए तो दिग्विजय सिंह दंडित होंगे।

मंगलवार को मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रेसवार्ता लेकर कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने 6 महीनों में जो घोषणाएं की है, यदि उनका क्रियान्यन हो जाये तो मैं स्वागत करता हूँ। पर ये घोषणाओं तक ही सीमित रह जायेगा क्योंकि इसका बजट में प्रवधान नहीं है । आज मध्यप्रदेश की तिजोरी खाली है। सरकार कर्ज में डूबी हुई है फिर भी ये घोषणाएं कर रहे हैं। क्योंकि ये जानते हैं कि इनको वापस सरकार में नहीं आना इसलिए कुछ भी बोल रहे हैं। कुछ भी घोषणा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज मध्यप्रदेश आत्महत्या में नम्बर 1 है। अफ्रीका से ज्यादा आत्महत्या मध्यप्रदेश में होती है ।बेरोजगारी में नम्बर 1, बलात्कार में नम्बर 1, आज मध्यप्रदेश महिलाओं पर अत्याचार में नम्बर 1 है और शिवराज जी मध्यप्रदेश में जन आशीर्वाद यात्रा जिले जिले में निकाल रहे हैं। शासकीय कर्मचारियों को दबाव डाला जा रहा है की भीड़ लाओ। शासकीय खर्चे पर ये तस्वीर आज मध्यप्रदेश के सामने हैंं। आम जनता ये तस्वीर देखकर सच्चाई का साथ दे। सच्चाई अपनाए। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल पर प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ बोले उन्होने घोषणाएं पहले भी की है। ये सोच रहे है कि छिन्दवाड़ा के मतदाता घोषणाओं से प्रभावित हो जाएगे। लेकिन छिन्दवाड़ा के मतदाता बहुत समझदार है वो प्रभावित नही हो पाएँगे।

उन्होंने आगे कहा कि भारतीय जनता पार्टी का महाकुंंभ कम से कम 2 सौ करोड़ रुपये शासकीय खर्चे पर हो रहा है। ये क्या साबित करना चाहते है। किस लिए किया गया। किस प्रकार शासकीय पैसा लूटा जा रहा है। कितनी सारी गाडियांं ले जाई जा रही है। ये महाकुम्भ नही है ये शासकीय महाकुंंभ है। इसकी सख्त निंदा करना चाहिए। ध्यान मोड़ने के लिए इस प्रकार का एक्जीबिशन करना गलत है। शिवराज के छिन्दवाड़ा आगमन पर मुझे आश्चर्य हुआ कि उन्होंने कहा कि ये कमलनाथ का विकास नही ये भाजपा का विकास है। उन्होंने जामसवली में मंदिर तक को नहीं छोड़ा। आगे कहा कि पीयूष गोयल से मिलने की आवश्यकता नहीं वो कुछ नही करना चाहते। उनके बस में कुछ नही है। कोयला मंत्री अभी बने है। मैं उनसे मिलकर अपना समय बर्बाद नही करना चाहता। व्यापम मामले में भाजपा द्वारा कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर हुए परिवाद पर बोले की कोर्ट फैसला करेगी। अगर दोषी हैं दिग्विजय को दंडित किया जाएगा। गठबंधन पर बोले बात चल रही है। चुनाव में उम्मीदवार पर बोले तय नही किया मेरे लिए छिन्दवाड़ा सौसर चौरई तीनो है। उन्होंने कहा कि एट्रोसिरी एक्ट कोई नई चीज नही है।

Related posts