एडीलेड टेस्ट: जीत से 6 कदम दूर भारत, आॅस्ट्रेलिया 87/4 * (42 ov)

एडीलेड। आज मुकाबले का चौथा दिन है। भारत ने ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 323 रन का लक्ष्य दिया है। तीसरे दिन बनाए गए 3 विकेट पर 151 रनों से आगे खेलने चौथे दिन उतरी भारतीय टीम 307 रन बनाकर ढेर हो गई। पहली पारी के आधार पर भारत को बढ़त 15 रनों बढ़त मिली। चेतेश्वर पुजारा (71) और अजिंक्य रहाणे (70) की अर्धशतकीय पारियों के दम पर भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरी पारी में 303 नों का स्कोर खड़ा किया। इसके अलावा लोकेश राहुल ने 44, मुरली विजय ने 18 विराट, विराट कोहली ने 34 और ऋषभ पंत ने 28 रनों का योगदान दिया। पहले सत्र में पांच विकेट के नुकसान पर 260 रनों बनाए थे। इसके बाद मेजबान टीम ने अपने सभी विकेट गिरने तक खाते में महज 47 रन और जोड़े। खबर लिखे जाने तक ऑस्ट्र्रेलिया ने दूसरी पारी में 42 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर 87 रन बना लिए हैं। शॉन मार्श 24* रन बनाकर खेल रहे हैं।

दूसरी पारी में भारत की ओर से आउट होने वाले अंतिम बल्लेबाज इशांत शर्मा रहे। उन्हें मिशेल स्टार्क ने पवेलियन की राह दिखाई। वहीं, जसप्रीत बुमराह बिना खाता खोले पवेलियन लौटे। पहले सत्र की समाप्ति तक रहाणे और ऋषभ पंत (28) नाबाद थे। इसके बाद दोनों ने 34 रन जोड़कर टीम को 282 के स्कोर तक पहुंचाया लेकिन इसी स्कोर पर ल्योन ने पंत को एरोन फिंच के हाथों कैच आउट कर पवेलियन का रास्ता दिखाया। इस सत्र कs आखिर में भारतीय बल्लेबाजी कमजोर नजर आई। 303 के स्कोर पर भारत ने रविचंद्रन अश्विन (5), रहाणे और मोहम्मद शमी (0) के तौर पर अपने तीनों विकेट खो दिए। रहाणे और शमी को ल्योन ने पवेलियन भेजा, वहीं अश्विन को स्टर्क ने आउट किया। स्टॉर्क ने इसके बाद 307 के स्कोर पर इशांत शर्मा (0) को पवेलियन भेजकर भारतीय पारी को समेट दिया।

तीसरे दिन मैच पर भारत की पकड़ मजबूत रही लेकिन चौथे दिन टीम लड़खड़ा गई। भारत की खस्ता हालत का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उसने 5 विकेट महज 25 रन जोड़कर खो दिए। चौथे दिन भारत को पहला झटका पुजारा के तौर पर लगा। भारत को चौथे दिन बल्लेबाजों से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद थी लेकिन नियमित अंतराल पर विकेट गिरने से टीम 350 का आंकड़ा भी नहीं छू सकी। इस पारी में ऑस्ट्रेलिया के लिए स्पिनर नाथन ल्योन ने सबसे ज्यादा विकेट चटकाए। उन्होंने शानदार गेंदबाजी करते हुए 6 विकेट हासिल किए। जबकि मिशेल स्टॉर्क ने 3 और जोश हेजलवुड ने 1 विकेट अपने नाम किया। ती इससे पहले भारत ने पहली पारी में 250 रन बनाए थे वहीं, मेजबान टीम जवाब में 235 रन पर ऑल आउट हो गई थी।

नहीं चला हैरिस और उस्मान का बल्ला

ऑस्ट्रेलिया को दूसरा झटका सलामी बल्लेबाज मार्कस हैरिस के रूप में 44 के स्कोर पर लगा। पहली पारी पारी में 26 रन बनाने वाले हैरिस दूसरी पारी में 26 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए। 49 गेंदों की अपनी पारी में उन्होंने तीन चौके लगाए। उन्हें 17वें ओवर की दूसरी गेंद पर मोहम्मद शमी ने अपना शिकार बनाया। वह शमी की गेंद पर गलत शॉट खेल बैठे और विकेटकीपर पंत के हाथों लपके गए। इसके कुछ देर बाद तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आए उस्मान ख्वाजा पवेलियन लौट गए। उनका विकेट 60 के कुल स्कोर पर गिरा। उस्मान 42 गेंदों में केवल 8 रन बनाकर अपना विकेटं गंवा बैठे। उन्हें 24वें ओवर की तीसरी गेंद पर अश्विन ने पवेलियन की राह दिखाई। वह अश्विन की गेंद पर उठाकर मारने की फिराक में बाउंड्री के पास कैच आउट हो गए। रोहित शर्मा ने दौड़कर उस्मान का शानदार कैच लपका। पहली पारी में उन्होंने 28 रन बनाए थे।

टी ब्रेक तक भारत को मिली एक सफलता

दूसरी पारी में बल्लेबाजी के लिए उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। मेजबान ने पहला विकेट एरोन फिंच के रूप में कुल 28 के स्कोर पर गंवा दिया। फिंच 35 गेंदों में महज 11 रन ही बना सके। इस दौरान उन्होंने एक चौका लगाया। उन्हें आर अश्विन ने टी ब्रेक से पहले 12वें ओवर की अंतिम गेंद पर अपना शिकार बनाया। वह अश्विन की गेंद को क्रीज पर पड़ने के बाद भांप नहीं पाए और विकेटकीपर ऋषभ को कैच थमा बैठे। फिंच के आउट होते ही टी ब्रेक की घोषणा कर दी गई। दूसरे सत्र की समाप्ति तक ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 28/1 था। पहली पारी में भी फिंच नाकाम रहे थे और बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए थे।

अजिंक्य रहाणे ने खेली दमदार पारी

पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आए अजिंक्य रहाणे ने दमदार पारी खेली। उन्होंने 174 गेंदों में 7 चौकों की मदद से 70 रन बनाए। एक समय लग रहा था कि रहाणे ने आसानी से शतक बना लेंगे लेकिन वह 303 के स्कोर पर अपना विकटे गंवा बैठे। उन्हें नाथन ल्योन ने पवेलियन की राह दिखाई। रहाणे का विकेट 303 के स्कोर पर गिरा। वह ल्योन की गेंद पर शॉट मारने के चक्कर में मिशेल स्टार्क के हाथों लपके गए।

ऋषभ पंत ने सस्ते में गंवाया विकेट

विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने एक बार फिर सस्ते में अपना विकेट गंवाया विकेट दिया। सातवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आए पंत महज 28 रन बनाकर आउट हो गए। 16 गेंदों की पारी में उन्होंने 4 चौके और 1 छक्का लगाया। पंत लंच ब्रेक के बाद 98वें ओवर में नाथन ल्योन की पहली गेंद पर आउट हो गए। वह ल्योन की गेंद पर बड़ा शॉट मारने की फिराक में एरोन फिंच को कैच थम बैठे। उन्होंने शुरू से ही आक्रामक रुख अपनाया और ताबड़तोड़ रन जुटाने की कोशिश की। पंत पहली पारी में भी जल्द पवेलियन लौट गए थे और 25 रन ही बना सके थे।

लंच ब्रेक तक कांटे की टककर

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच लंच ब्रेक तक कांटे की टककर रही। चौथे दिन भारतीय पारी को आगे खेलने उतरे पुजारा और रहाणे ने टीम को पहले सत्र में 200 रनों के पार पहुंचाया। पहले सत्र में भारत ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का डटकर सामाना किया। हालांकि, इस दौरान मेहमान टीम को चेतेश्वर पुजारा (71) और रोहित शर्मा (1) के तौर पर 2 झटके भी लगे। नाथन ल्योन ने पुजारा को आउट कर भारत को दिन का पहला झटका दिया। पुजारा रहाणे के साथ 87 रनों की साझेदारी कर टीम को 234 रनों के स्कोर पर पवेलियन लौट गए। इसके बाद रोहित भी ज्यादा देर टिककर बल्लेबाजी नहीं कर सके और अपने विकेट गंवा बैठे। उन्हें भी ल्योन ने आउट किया। लंच ब्रेक तक भारत का स्कोर 260/5 था।

रोहित शर्मा जल्द पवेलियन लौटे

भारत को पांचवां झटका रोहित शर्मा के रूप में 248 के स्कोर पर लगा। चेतेश्वर पुजारा के आउट होने के बाद बल्लेबाजी के लिए रोहित सस्ते में विकेट गंवा बैठे। वह 6 गेंदों में सिर्फ 1 रन बनाकर कैच आउट हो गए। रोहित को 92वें ओवर की दूसरी गेंद पर नाथन ल्योन ने अपना तीसरा शिकार बनाया। वह ल्योन की गेंद को क्रीज पर पड़ने के बाद भांप नहीं पाए और गलत शॉट खेल बैठे। सिली प्वाइंट पर खड़े पीटर हैंडस्कॉब ने इस मौके को गंवाया नहीं और एक हाथ से शानदार कैच लपक लिया। पहली पारी में रोहित ने 61 रन की पारी खेली थी।

भारत ने चौथे विकेट के लिए की अहम साझेदारी

भारत टीम चौथे विकेट के लिए की बेहद अहम साझेदारी की। विराट कोहली के तीसरे विकेट के रूप में पवेलियन लौटने के बाद चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे ने मोर्चा संभाला और टीम को 200 रन के पार पहुंचा। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 87 रन जोड़े। हालांकि, 250 रन से पहले पुजारा के आउट होने के बाद यह साझेदारी आउट हो गई। पुजारा 234 के स्कोर पर अपना विकेट गंवा बैठे। उन्होंने इसस पहले कोहली के साथ तीसरे विकेट के लिए 71 रन की पार्टनरशिप की।

पुजारा ने खेली शानदार अर्धशतकीय पारी

पहली पारी के शतकवीर चेतेश्वर पुजारा (123) ने दूसरी पारी में भी अपनी लय को बरकरार रखा। उन्होंने शानदार अर्धशतकीय पारी खेलकर भारत को लड़खड़ाने से बचाया। पुजारा ने 204 गेंदों में 71 रन बनाए। अपनी पारी में उन्होंने 9 चौके जड़े। तीसरे दिन 40 रन बनाकर नाबाद लौटने वाले पुजारा ने चौथे दिन खेल शुरू होने के बाद 140 गेंदों में 6 चौकों की मदद से अपना अर्धशतक पूरा किया। यह उनके टेस्ट क्रिकेट करियर का 20वां अर्धशतक है। सलामी बल्लेबाज मुरली विजय के आउट होने के बाद बल्लेबाजी के लिए आए पुजारा बेहद संभलकर बल्लेबाजी की और कई अच्छे स्ट्रोक्स लगाए। हालांकि, वह दूसरी पारी में भी शतक जमाने से चूक गए और लियोन द्वारा डालने गए 88वें ओवर की आखिरी गेंद पर एरोन फिंच को कैच थमा बैठे। पुजारा का विकेट 234 के स्कोर पर गिरा।

भारत ने 458 गेंदों में बनाए 200 रन

सधी हुई शुरुआत का भरपूर फायदा उठाते हुए भारत ने बिना लड़खड़ाए 200 का आंकड़ा पार कर लिया। भारत ने दूसरी पारी में 458 गेंदों में 200 रन पूरे किए। इस दौरान भारत को 16 अतिरिक्त रन मिले। हालांकि, सैकड़े के बाद भारत ने अगले 100 रन थोड़े धीमे जुटाए। मेहमान टीम ने अपने शुरुआती 100 रन 220 गेंदों में पूरे किए। इसके बाद टीम को 200 का आंकड़ा छूने के लिए 238 गेंदें खेलने पड़ीं। भारतीय टीम दूसरी पारी में महज 3 विकेट गंवाकर 200 रन के पार पहुंच गई। वहीं, पहली पारी में भारतीय टीम 200 रन बनाने तक लड़खड़ा गई थी और उसके 7 बल्लेबाज पवेलियन लौट गए थे।

Related posts