एडीलेड टेस्ट: कंगारूओं को उन्हीं की जमीन पर भारत ने किया चित, 31 रनों से जीता पहला टेस्ट

एडीलेड। एडिलेड में टीम इंडिया ने कोहली की कप्तानी में कंगारूओं को चित कर पहला टेस्ट मैच 31 रनों से जीतकर अपने नाम कर लिया है। इसी जीत के साथ भारत ने ऑस्ट्रेलियाई धरती पर इतिहास भी रच दिया। आस्ट्रेलिया 323 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 291 रन तक ही पहुंच पाया। इसी के साथ कोहली दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान बन गए।

Bumrah delivered crucial strikes through the final day

भारत को जीत के लिए करना पड़ा इंतजार
आस्ट्रेलिया का स्कोर एक समय चार विकेट पर 84 रन था और भारत की जीत चौथे दिन ही तय लग रही थी लेकिन इसके बाद अगले पांच विकेट के लिए 31, 41, 31, 41, 31 और आखिरी विकेट के लिए 32 रन की साझेदारी निभाई गई जिससे भारत की जीत का इंतजार बढ़ा। भारत की यह आस्ट्रेलिया में कुल छठी जबकि एडिलेड ओवल में दूसरी जीत है। इस मैदान पर भारतीय टीम ने इससे पहले 2003 में जीत दर्ज की थी। भारत ने दस वर्ष बाद आस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर हराया।

Ishant counced out Travis head early on day 5

पुजारा रहे जीत के हीरो
भारत की जीत के नायक निश्चित तौर पर चेतेश्वर पुजारा रहे जिन्होंने 123 और 71 रन की दो बेहतरीन पारियां खेली। इसके लिए उन्हें मैन आफ द मैच चुना गया। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट 41 रन पर गंवा दिये और यह पहला अवसर है जबकि वह चोटी के चार विकेट 50 रन के अंदर गंवाने के बावजूद मैच जीतने में सफल रहा।

Shaun Marsh fell after a patient 60

पंत के लिए पहला टेस्ट रहा खास
भारत ने पहली पारी में 250 रन बनाये और आस्ट्रेलिया को 235 रन पर रोक दिया। भारत ने दूसरी पारी में अंतिम पांच विकेट 25 रन के अंदर गंवाने के बावजूद 307 रन बनाकर आस्ट्रेलिया के सामने चुनौतीपूर्ण लक्ष्य रखा था। विकेटकीपर ऋषभ पंत के लिए भी यह टेस्ट खास रहा। उन्होंने मैच में कुल 11 कैच लेकर इंग्लैंड के जैक रसेल और दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स के विश्व रिकार्ड की बराबरी की। इस मैच में कुल 35 कैच लिये गये जो कि विश्व रिकार्ड है।

Tim Paine made a brisk 41

भारतीय गेंदबाजों मोहम्मद शमी (65 रन देकर तीन), जसप्रीत बुमराह (68 रन देकर तीन) और रविचंद्रन अश्विन (92 रन देकर तीन) ने तीन-तीन विकेट लिए जबकि इशांत शर्मा (48 रन देकर एक) को एक विकेट मिला। आस्ट्रेलिया ने मैच के पांचवें दिन सुबह चार विकेट पर 104 रन से पारी आगे बढ़ाई लेकिन ट्रेविस हेड (14) और शान मार्श (60) की साझेदारी केवल 7.4 ओवर तक चली। भारत ने पुरानी कूकाबुरा गेंद से सफलता हासिल करने में देर नहीं लगाई। हेड सुबह आउट होने वाले पहले बल्लेबाज थे। इशांत के सटीक बाउंसर का उनके पास कोई जवाब नहीं था। गेंद हेड के बल्ले से लगकर हवा में तैरती हुई गली में गयी जहां अजिंक्य रहाणे ने उसे कैच करने में कोई गलती नहीं की।

Nathan Lyon was left disappointed after an unbeaten 38

बुमराह का ओवर रहा टर्निंग प्वाइंट
मार्श सहज होकर खेल रहे थे। उन्होंने 160 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया जो चौथी पारी में उनका पहला पचासा भी है। यह कुल मिलाकर उनका दसवां टेस्ट अर्धशतक है। बुमराह ने भारत को मार्श का विकेट दिलाया। यह महत्वपूर्ण मोड़ 73वें ओवर में आया जब बाहर की तरफ मूव करती गेंद मार्श के बल्ले का किनारा लेकर पंत के दस्तानों में समा गई। बुमराह ने इसके बाद कप्तान टिम पेन (41) को गलत टाइमिंग से पुल शाट खेलने की सजा दी। पंत ने दौड़ लगाकर हवा में लहराता कैच लिया जो उनका मैच में दसवां कैच था।

Kohli shakes hands with the last wicket to fall, Hazlewood

Related posts