इधर राज्यपाल हुए नाराज़ तो किए गए 2 अधिकारी निलंबित, उधर कमलनाथ का दिल्ली प्रेम बना अड़चन

भोपाल। मध्य प्रदेश में दो दिन पूर्व राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह में प्रोटोकाल का पालन नहीं होने पर राज्यपाल लालजी टंडन ने प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से अपनी नाराजगी जताई हैं। बता दे कि राज्यपाल तो मध्यप्रदेश में ही हैं लेकिन मुख्यमंत्री जी बहुत लंबे समय से दिल्ली की हवा खा रहे हैं। उनका मध्यप्रदेश में मन कम ही लग रहा हैं। खैर जब सत्ता शायद हाथ से फिसल जाएगी तो कमलनाथ जी को फिरसे मध्यप्रदेश याद आएगा और अपना यहां ना होना सताएगा। खैर इस मामले में अपने काम में लापरवाही बरतने और अपने दायित्वों के प्रति अवहेलना के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने दो अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है और एक प्राचार्य को कारण बताओ नोटिस जारी भी किया गया है।
राजभवन से मिली जानकारी के अनुसार कमलनाथ ने शनिवार को दिल्ली से टंडन को फोन लगाया और उनसे बात की। उन्होंने बताया कि उसके बाद शनिवार को ही मध्यप्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी अपने विभाग के प्रमुख सचिव एवं आयुक्त लोक शिक्षण को साथ लेकर राजभवन पहुंचे और उनसे 10 मिनट से अधिक समय तक बात की। माना जा रहा है कि राज्यपाल को मनाने के लिये मंत्री और अधिकारी वहां पहुंचे थे। पद के दायित्वों के प्रति अवहेलना के लिए दो अधिकारी निलंबित
राजभवन के सूत्रों के अनुसार चौधरी इस समारोह में समय पर नहीं पहुंचे, जिसके कारण राज्यपाल को चौधरी का इस समारोह में पहुंचने के लिए अपने निवास पर इंतजार करना पड़ा था। प्रोटोकाल के अनुसार मंत्री के कार्यक्रम में पहुंचने के बाद ही राज्यपाल राजभवन से इसमें शामिल होने के लिए रवाना होते हैं। टंडन समय के पाबंद हैं, लेकिन इस समारोह में उन्हें देरी से जाना पड़ा। इससे वह इससे नाराज हुए। इसी बीच, मध्यप्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग की एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि विगत छह सितंबर को आयोजित राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह में लापरवाही और पद के दायित्वों के प्रति अवहेलना के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने दो अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

अधिकारी ने कहा कि विभागीय आदेश के अनुसार बी बी सक्सेना, उप संचालक, कार्यालय संयुक्त संचालक लोक शिक्षण भोपाल संभाग एवं के.पी.एस. तोमर, जिला शिक्षा अधिकारी भोपाल को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि में सक्सेना को मुख्यालय, लोक शिक्षण संचालनालय तथा तोमर को मुख्यालय राज्य शिक्षा केन्द्र से संबद्ध कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के समन्वय अधिकारी धीरेंद्र चतुर्वेदी, प्राचार्य प्रगत शैक्षिक संस्थान भोपाल को इसी सिलसिले में कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

Related posts