आफत की बारिश: पीथमपुर में नाला पार करते वक़्त 2 बाइक सवार बहे, 1 को बचाया, 1 लापता

भोपाल। पूरे देश में मानसून ने दस्तक दे दी है। मुंबई सहित महाराष्ट्र के कई इलाकों में बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। बात की जाये मध्य प्रदेश की तो यहाँ भी कई इलाकों में बारिश कहर बन कर आई है।  कई जगह लगातार बारिश से नदी-नाले उफान पर पहुंच गए हैं। शनिवार को चापड़ा के पास काली सिंध नदी में उफान से इंदौर-बैतूल हाइवे दो घंटे से बंद रहा। वहीं रायसेन में भारी बारिश से बीना नदी उफान पर पहुंच गई है। कहूला पुल पूरी तरह से जलमग्न हो गया है, जिससे भोपाल सागर मार्ग बंद है। यहां पर 25 से ज्यादा गांवों से संपर्क टूट गया है।

श्योपुर में दो दिन से हो रही लगातार बारिश से सीप नदी पर बना बंजारा डेम ओवरफ्लो हो गया है। पिछले 36 घंटे में श्योपुर शहर में 77 मिलीमीटर बारिश हुई है। यहां अब तक 146 मिमी हो चुकी है। धार जिले के पीथमपुर में शनिवार सुबह उफने नाले को पार करते समय बाइक सवार दो लोग बह गए, जिनमें से एक को बचा लिया गया है, जबकि दूसरे की तलाश की जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार, पीथमपुर थाना क्षेत्र स्थित एक फैक्ट्री से काम कर बाइक से घर लौट रहे सुनील (20) और संतोष (21) निवासी राजपुर (इंदौर) उफनते नाले में बह गए। लोगो ने बेहटा हुआ देख कर सुनील को जैसे-तैसे बचा लिया, लेकिन संतोष तेज बहाव में बह गया। पीथमपुर पुलिस सूचना के बाद मौके पर पहुंची और युवक की तलाश में जुट गई।

कहूला पुल जलमग्न : तहसील मुख्यालय गैरतगंज से 7 किमी दूर ग्राम बीनापुर स्थित कहूला पुल तेज बारिश के चलते जलमग्न हो गया है। सुबह 10.30 बजे से  भोपाल सागर मार्ग बंद है। जिसके चलते पुल के दोनों तरफ वाहनों की लंबी लंबी कतारें लगी हैं। बेगमगंज-ग्यारसपुर मार्ग बंद हो गया है।  20 गांवों का सड़क संपर्क टूट गया है। उदयपुरा, बरेली, गैरतगंज, बेगमगंज, गौहरगंज, सिलवानी में 5 से 6 घंटे तक बारिश हुई।

Related posts